जागरण संवाददाता, नूंह:

शहीद हसन खां मेवाती राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय के इंटर्न व छात्रों द्वारा गठित पहल टीम ने शनिवार को नलहड़ गांव में टीकाकरण अभियान चलाया। इस टीकाकरण अभियान में पांच साल तक के बच्चों को खसरा, काली खांसी, टेटनस आदि के टीके लगाए। कैंप में करीब 30 परिवारों के बच्चों व गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया।

टीम पहल द्वारा नलहड़ गांव में पहला कैंप लगाया। पहल टीम का उद्देश्य पूरे गांव के पांच साल तक के बच्चों का समय पर टीकाकरण करना और 15 से 45 उम्र की महिलाओं में होने वाली खून की कमी को दूर करना है। पहल टीम के मेंबर डा. प्रतीक गोरा, डा. संयम गौड़, हर्षदीप कुलार, विशाल वर्मा, सूरज लोहान, वर्षा, अनामिका व अंशुल के पूर्ण सहयोग से आयोजित कैंप का ग्रामीणों ने पूरा लाभ उठाया। बता दें, कि मेडिकल कॉलेज के इंटर्न व छात्रों ने चिकित्सा व स्वास्थ्य शिक्षा देने का उठाया बीड़ा है। इसी कड़ी में एक टीम तैयार की है। टीम का नाम पहल रखा गया है। जो क्षेत्र लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ चिकित्सा मुहैया करा रही है।

बीते पांच मई को पहल टीम ने नलहड़ गांव के 30 घरों का दौरा किया। यहां परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य शिक्षा दी गई। टीम का अगला दौरा 10 जून को हुआ। जिसमें 40 से 50 परिवारों को शिक्षित किया जाएगा। पहल की टीम स्वास्थ्य से संबंधित दो मुख्य मुद्दों पर लोगों को जागरूक करने में कार्यरत है। पहला 15 से 45 वर्ष की महिलाओं में खून की कमी और उसके कारण होने वाले स्वास्थ्य संबंधी खतरों से कैसे खुद को बचाया जाए। दूसरा 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का समय पर टीकाकरण और उसकी एहमियत के बारे में लोगों को जागरूक करना है।

Posted By: Jagran