नूंह, जागरण टीम: जिले में आयुष्मान कार्ड बनने के बाद भी पात्र लोगों को उसका पूर्ण लाभ नहीं मिला पा रहा है, क्योंकि जिला अस्पताल या सीएससी सेंटर से कार्ड प्राप्त करने के बाद लोगों का इलाज नहीं हो पा रहा है। जब भी कोई इलाज कराने के लिए अन्य अस्पतालों में जाता है तो उसका डाटा पोर्टल पर दिखाई नहीं देता है।

इसलिए लोगों को बिना मुफ्त इलाज के ही वापस घर लौटना पड़ रहा है। ऐसे में सरकार की इस योजना के जितने लाभ की लोग उम्मीद जता रहे थे, उतना मिल नहीं रहा है। खेडलीकलां के साकिर हुसैन ने बताया कि वो अपने कार्ड को लेकर अपने बच्चे का इलाज कराने के लिए एक अस्पताल में गए थे। लेकिन उनको बिना इलाज के ही वापस घर लौटना पड़ा। ऐसे में लोगों ने इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार से मांग भी की है ताकि वो अपना इलाज इस आयुष्मान योजना के तहत करा सकें।

बता दें कि हरियाणा सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत के तहत अब हर पात्र व्यक्ति को लाभ देने का लक्ष्य रखा गया है। यह योजना गरीब लोगों के लिए वरदान साबित होगी। हरियाणा सरकार की इस योजना ने गरीबों का दिल जीतने का भी काम किया है, क्योंकि अब गरीब भी अपना इलाज अब बड़े अस्पतालों में करा सकेंगे। इस योजना से खासकर गरीबों को ही लाभ मिलेगा। अब तक जिले में 152378 ही गोल्ड कार्ड बन पाए हैं।

योजना को जानें

यह योजना गत 15 अगस्त 2018 से लागू की गई (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) आयुष्मान भारत के नागरिक अस्पताल मांड़ीखेड़ा व मेडिकल कालेज नलहड़ में दो केंद्र संचालित हैं। पूरे जिले में अब तक 152378 लोगों के कार्ड बन चुके हैं। इस योजना का लाभ देने के लिए 728887 लोग शामिल किए गए हैं। नूंह जिले के 576505 लोग अभी भी इससे वंचित हैं। इस योजना को सिरे चढ़ाने के लिए दोनों केंद्रों पर चार-चार आयुष्मान मित्र कार्य कर रहे हैं। इस संदर्भ में जानकारी के लिए टाल फ्री नंबर 14555 भी उपलब्ध कराया हुआ है। ऐसे बनवाएं कार्ड: इस योजना का लाभ लेने के लिए जिला अस्पताल मांडी खेड़ा या मेडिकल कालेज नल्हड़ में भी बनवा सकते हैं। इसके अलावा सरकार ने लोगों को आसानी करने के लिए हर गांव में खोले गए सीएससी सेंटर भी मुफ्त में अपना कार्ड बनवा सकते हैं। पत्र लोगों की लिस्ट हरियाणा सरकार से सेंटरों पर भेजी है। यदि उस लिस्ट में किसी व्यक्ति का नाम है तो उसी का कार्ड बनेगा। इसके अलावा आने वाले समय में सभी लोगों के कार्ड बनाए जा सकते हैं। जानकारी के मुताबिक फैमिली आइडी में जिनकी आय एक लाख 80 तक है वह व्यक्ति आयुष्मान के लिए पात्र माना जाएगा।

यहां कराएं योजना से बेहतर इलाज

जिले में नागरिक अस्पताल मांडीखेड़ा व मेडिकल कालेज नलहड़ के अला गुरूग्राम के उमा संजीवनी, तीरथ राम, मुस्कान डेंटल, चिराग, अहूजा आई एंड डेंटल इंस्टीट्यूट, पार्क हास्पिटल, करीती, दयाल अस्पताल, पलवल जिले के पलवल हास्पिटल, गुरू नानक, राहुल नर्सिंग होम, कोसमोस सहित आधा दर्जन अस्पताल हैं। इसके अलावा दिल्ली व अन्य शहरों के निजि अस्पतालों में इस योजना का मरीज लाभ उठा सकते हैं।

इतनों ने उठाया योजना का लाभ

नूंह जिले के 2265 लोगों ने अब तक इस योजना का लाभ यहां के अस्पतालों से ले लिया है। इसके अलावा अन्य अस्पतालों से भी लोगों ने लाभ लिया है। इस योजना का लाभ लेने के लिए भारत के नामी अस्पतालों का नाम शामिल है। कोई भी व्यक्ति कहीं जाकर अपना अच्छा इलाज करा सकता है, लेकिन पहले सरकार को कार्ड में आ रही परेशानी को दूर करना होगा।

इनका कहना है

गोल्ड कार्ड धारकों को इस योजना से पांच लाख रूपये तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा। अब तक जिले में 152378 लोगों को कार्ड बनाकर दे दिया गया है। जबकि 576505 लोगों के आयुष्मान भारत कार्ड बनाने बाकि हैं। इस योजना का लाभ लोगों को जरूर उठाना चाहिए। - जसबीर सिंह, जिला सूचना प्रबंधक नूंह

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट