Move to Jagran APP

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे पर भीषण सड़क हादसा, महाकालेश्वर जा रही कार पलटी; मां-बेटे समेत चार लोगों की मौत

टायर फटने से इकोस्पोर्ट कार डिवाइडर से टकराकर चार बार पलटी खाई। हादसे में कार सवार अनीता संभव 12 वर्षीय पियूष व 28 वर्षीय दीपांशु की मौके पर ही मौत हो गई। गीतांशी 28 वर्षीय हिमांशु व 50 वर्षीय पुष्पा को घायल अवस्था में पुलिस ने नल्हड़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। गीतांशी की हालत अब ठीक है। सूचना के बाद स्वजन भी मौके पर पहुंचे।

By Jagran News Edited By: Shyamji Tiwari Thu, 28 Mar 2024 06:36 PM (IST)
महाकालेश्वर जा रहे परिवार की कार पलटी, मां-बेटे समेत चार लोगों की मौत

संवाद सहयोगी, पुन्हाना। मेरठ के बहसूमा कैलाश से महाकालेश्वर जा रहे एक परिवार की कार नूंह के पिनगवां थाना क्षेत्र के गांव झिमरावट के पास गुरुवार सुबह करीब सात बजे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे पर हादसाग्रस्त हो गई। टायर फटने से इकोस्पोर्ट कार डिवाइडर से टकराकर चार बार पलटी खाई।

हादसे में दो सगे भाइयों की मौत

इस हादसे में कार सवार मां-बेटे और दो सगे भाइयों की मौत हो गई। वहीं तीन लोग घायल हैं। परिवार के लोग नूंह के नल्हड़ मेडिकल कालेज में इलाज के बाद तीनों घायलों को अपने साथ मेरठ ले गए। जानकारी के अनुसार चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के परीक्षा विभाग में कार्यरत बहसूमा कैलाश निवासी धनप्रकाश वरुण की पत्नी 42 वर्षीय अनीता कुमारी, बेटा 18 वर्षीय संभव वरुण, बेटी 16 वर्षीय गीतांशी, मेरठ के डोरली निवासी पुष्पा देवी व उनके स्वजन दीपांशु, पियूष और हिमांशु फोर्ड इकोस्पोर्ट कार में सवार होकर गुरुवार सुबह करीब चार बजे घर से उज्जैन के लिए निकले थे।

पुष्पा देवी धनप्रकाश की बहन हैं। जैसे ही कार सुबह सात बजे नूंह के पिनगवां के पास झिमरावट गांव के पास पहुंची तो टायर फटने से तेज रफ्तार कार का संतुलन बिगड़ गया। इससे कार डिवाइडर से टकराकर कई बार पलट गई। हादसे में कार सवार अनीता, संभव, 12 वर्षीय पियूष व 28 वर्षीय दीपांशु की मौके पर ही मौत हो गई। गीतांशी, 28 वर्षीय हिमांशु व 50 वर्षीय पुष्पा को घायल अवस्था में पुलिस ने नल्हड़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। गीतांशी की हालत अब ठीक है। सूचना के बाद स्वजन भी मौके पर पहुंचे।

मेरठ लेकर चले गए परिवार के लोग

पुलिस ने बताया कि सभी घायलों को परिवार के लोग मेडिकल कॉलेज से रेफर कराकर मेरठ लेकर चले गए। यहां उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। पुलिस पूछताछ में गीतांशी ने बताया कि कार दीपांशु चला रहे थे। करीब सात बजे बहुत तेज की आवाज आई, इसके बाद कार अनियंत्रित हो गई और यह हादसा हुआ। दीपांशू और पियूष सगे भाई थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शवों को स्वजन के सुपुर्द कर दिया है।