जागरण संवाददाता, नारनौल : नेशनल हाईवे नंबर-11 अभी बनकर तैयार ही हुआ है। सिघाना रोड बाईपास से राजस्थान तक करीब 46 किलोमीटर लंबे इस रोड को कुछ माह पहले ही ठेकेदार ने नेशनल हाईवे को हैंडओवर किया है। इस मार्ग के किनारे जगह-जगह टूट गए हैं, वहीं रघुनाथपुरा साइड से शुरू हुए इस हाईवे की शुरुआत में ही करीब आधा किलोमीटर दूर तक सड़क किनारे की जमीन पानी भरने की वजह से धंस गई और सेफ्टी दीवार की जड़ें बाहर आ गई। ये दीवार कभी भी गिर भी सकती हैं। राहगीरों ने सड़क निर्माण सामग्री को लेकर सवाल उठाए हैं, वहीं निर्माण करने वाली कंपनी के अधिकारियों ने साफ किया है कि इस सड़क को आने वाले 20 साल तक की जिम्मेदारी कंपनी की है और जहां से भी सड़क टूटेगी, उसकी मरम्मत कंपनी अपने खर्च पर करेगी।

नेशनल हाइवे ने सिक्स लेन मार्ग बनाकर तैयार किया है, लेकिन क्षेत्र में पिछले दिनों जमकर हुई बारिश के आगे निर्माण सामग्री भी जवाब दे गई है। नारनौल से रघुनाथपुरा की ओर चलते ही इस गांव से करीब आधा किलोमीटर दूरी पर बाईपास स्थित है। इस बाईपास का निर्माण कार्य जोरों से चल रहा है और यहां पर आरओबी बनाया जा रहा है। हालांकि, यह कार्य अन्य कंपनी को दिया हुआ है। इसी स्थान से सिघाना की ओर सिक्स लेन मार्ग बनाया जा चुका है और नेशनल हाईवे के हैंडओवर भी पिछले दिनों ही किया गया है। इस सिक्स लेन के बाई ओर किनारे पर बनाई गई सेफ्टी दीवार के पास से अंदर की ओर की जमीन पर पानी भर गया था और इस वजह से जमीन धंसने से करीब पांच से छह फुट चौड़ी खाई बन गई है। सेफ्टी दीवार के नीचे से भी मिट्टी धंसकर दब गई है। ऐसा करीब आधा किलोमीटर दूर तक बना हुआ है। इस मार्ग के दोनों किनारों पर भी कई स्थानों पर पानी बहने से कटाव हो गया। हालांकि कंपनी ने इन कटावों में मिट्टी भर दी। लेकिन आधा किलोमीटर दूरी में बनी खाई को अभी भी भरा नहीं गया है।

वर्जन

इस मामले की जांच करवाई जाएगी। पता लगाया जाएगा कि आखिर ऐसा क्यों हुआ है। नेशनल हाईवे की रेवाड़ी में तैनात कार्यकारी अभियंता की देखरेख में कार्य हुआ है। उनको इसकी जांच के आदेश दिए जा रहे हैं।

अजय कुमार, उपायुक्त, महेंद्रगढ़ एट नारनौल

मौका स्थल का मैंने कल ही निरीक्षण किया है। काफी दूर तक जमीन धंसी हुई है। किसानों ने अपने खेतों का पानी सड़क की ओर निकाल दिया, जिससे जमीन धंस गई। पेट्रोल पंप के पास पानी को निकालने का रास्ता भी नहीं है। इस मार्ग की मरम्मत का जिम्मा कंपनी ने 20 साल के लिए लिया हुआ है और धंसी हुई सड़क को जल्द ठीक कर दिया जाएगा।

-जगबीर सिंह सुहाग, टीम लीडर, मरम्मत कार्य, संबंधित कंपनी

Edited By: Jagran