जागरण संवाददाता, नारनौल: वर्तमान परि²श्य में 22 जून के बाद मैदानी राज्य राजस्थान, हरियाणा, एनसीआर दिल्ली और जिला महेंद्रगढ़ में मौसम शुष्क और साफ बना हुआ है। संपूर्ण इलाके में पसीने और उमस भरी गर्मी से जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

मौसम विशेषज्ञ डा. चंद्रमोहन ने बताया कि हालांकि हरियाणा, एनसीआर- दिल्ली में तापमान कई जगहों पर अभी भी 43 डिग्री सेल्सियस से नीचे ही बने हुए है। परंतु वातावरण में नमी मौजूद होने की वजह पसीने और उमस भरी गर्मी से आमजन असहाय महसूस कर रहा है। जब तक हरियाणा, एनसीआर दिल्ली और विशेषकर जिला महेंद्रगढ़ में मानसून की दस्तक नहीं होगी, जब तक आने वाले कुछ दिनों तक अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जाएगी। 30 जून से हरियाणा के पूर्वी और उत्तरी हिस्से और एनसीआर दिल्ली पर मानसून पहुंचने की संभावना बन रही है। पांच जुलाई तक संपूर्ण उत्तर भारत में मानसून की बारिश शुरू हो जाएगी। 29 जून को एक कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी मध्य प्रदेश पर बनने जा रहा है, जिसकी वजह से उत्तरी मैदानी राज्य हरियाणा, राजस्थान, एनसीआर दिल्ली की तपती धरती की प्यास बुझाने को आतुर है। शनिवार को हरियाणा एनसीआर में अधिकतर स्थानों पर अधिकतम तापमान 39.0 से 43.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। जबकि जिला महेंद्रगढ़ में लगातार अधिकतर स्थानों पर तापमान में उछाल देखने को मिल रहा है। नारनौल और महेंद्रगढ़ का अधिकतम तापमान क्रमश: 42.6 और 42.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जबकि नारनौल और महेंद्रगढ़ का न्यूनतम तापमान क्रमश: 26.0 और 24.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। महेंद्रगढ़ में दोपहर बाद स्थानीय मौसमी प्रणाली की वजह से हल्की बादलवाई देखने को मिली, जिसकी वजह से बीच बीच में धूल भरी हवाएं भी चली।

Edited By: Jagran