जागरण संवाददाता, नारनौल : वैश्विक कोरोना महामारी के भय के चलते जारी लॉकडाउन में जिला प्रशासन की अपील पर घरों में रुके लोगों को स्थानीय स्तर पर उचित रेट पर फल सब्जी मिले इसके लिए मंगलवार को सिहमा ग्राम पंचायत ने बस स्टैंड स्थित सब्जी की दुकानों पर फल-सब्जी के रेट दुकान के निर्धारित कर उनकी लिस्ट दुकानों के बाहर चस्पा कर रखना दुकानदारों के लिए अनिवार्य कर दिया है। सरपंच हरनाम सिंह ने बताया कि अधिक दाम पर फल सब्जी बेचने की मौखिक शिकायत लोगों से मिल रही थी। जिसको लेकर फल सब्जी बेचने वालों को निर्धारित रेट पर फल-सब्जी बेचने की हिदायत दी गई तथा रोज के फल-सब्जी के भावों की एक लिस्ट दुकान के बाहर चस्पाकर रखने की हिदायत दी गई। लोगों ने दुकानदारों को चेताया कि लॉकडाउन की मजबूरी में लोगों से बाजार भाव से अधिक मूल्य पर फल-सब्जी बिक्री करोगे तो जिला पुलिस-प्रशासन व खाद्यापूर्ति विभाग के अधिकारियों को सूचित किया जाएगा। गौरतलब है कि गत दिनों नवरात्रों में शहर की बजाय गांवों में फल व सब्जी के रेटों में काफी अंतर रहा। लॉकडाउन के चलते लोग स्थानीय स्तर पर महंगे दामों पर फल व सब्जियां खरीदने को मजबूर रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस