जागरण संवाददाता, नारनौल:

जिला में पिछले तीन चार दिनों से अलग अलग स्थानों पर बारिश हो रही है। शहर नारनौल में शुक्रवार को करीब 30 मिनट तक अच्छी बारिश हुई। कई दिनों के बाद हुई बारिश से शहर में जगह जगह जलभराव से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। साथ ही थोड़ी देर के लिए ही सही उमस और गर्मी से राहत मिली। शहर की विभिन्न गलियों में बरसात का पानी भरने से आवागमन में दिक्कत आई। दोपहर को थोड़ी देर के लिए हुई बारिश से नाले भी अवरुद्ध हुए। जिलास्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के मैदान में चल रही तैयारियों पर असर पड़ा। मैदान में पानी भरने से कर्मचारी शाम तक मैदान को सुखाने और भीगे हुए तिरपाल को बदल रहे थे।

फसलों को होगा फायदा:

बारिश का फसलों के लिए वरदान बताया जा रहा है। कृषि विशेषज्ञों के साथ किसान भी बारिश आने से खुश हैं। उनका कहना है कि फसल को बारिश की ज्यादा जरूरत है। बाजरे की सिट्टे निकलने के साथ दाने बन रहे हैं। अगेती फसल तो दस दिन के अंदर पकाव भी हो जाएगी। इसलिए बारिश से अच्छी खुराक मिलेगी। इसके अलावा फसलों में विभिन्न बीमारियों का प्रकोप नहीं रहेगा।

कनीना में 10 एमएम हुई बारिश:

कनीना क्षेत्र में पिछले 24 घंटे के दौरान 10 मिलीमीटर बारिश हुई। शुक्रवार को 4 मिलीमीटर बारिश हुई। हालांकि फसलों के लिहाज से यह बारिश नाकाफी बताई जा रही है। सूखे की मार से कहीं बेहतर है।

कृषि विशेषज्ञों ने किसानों से अभी सिचाई के लिए जल्दबाजी नहीं करने की सलाह दी है। मौसम में बारिश के आसार बने हुए हैं। इसलिए 18 अगस्त तक सिचाई नहीं करने की सलाह दी है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस