जागरण संवाददाता, नारनौल :

प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव ने मंगलवार को अपने आवास पर नारनौल शहर व ग्रामीण क्षेत्र में पीने के पानी को लेकर जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने अधिकारियों से शहर व गांवों में पीने के पानी को लेकर रिपोर्ट ली। अधिकारियों ने राज्यमंत्री को अवगत कराया कि पुरानी मंडी, इंदिरा कॉलोनी व सीआइए रोड पर बूस्टर बना हुआ है। यहां पर जन स्वास्थ्य के कार्य को लेकर कुछ लोगों ने कोर्ट में केस डाल दिया था। जिस कारण विभाग यहां पर लोगों के लिए पानी को लेकर नया कार्य नहीं कर पा रहा था। अब कोर्ट में केस करने वाले लोग कोर्ट से केस हार गए हैं। जिसके कारण अब विभाग द्वारा इन जगहों पर कार्य करने में कोई कानूनी अड़चन नहीं हैं। अब जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा मोटर लगानी है। इसके लिए विभाग ने टेंडर छोड़ दिए हैं। जल्दी ही यह काम हो जाएगा। स्लैब व मोटर लग जाने के बाद पुरानी मंडी, इंदिरा कॉलोनी और सीआइए में किसी भी तरह पानी की किल्लत नहीं रहेगी। उन्होंने राज्यमंत्री को अवगत कराया कि नारनौल शहर में पीने के पानी की कोई समस्या नहीं है जहां पर एक-दो मोहल्लों में पीने के पानी को लेकर शिकायतें थी उनको दूर कर दिया गया है। इस मौके पर राज्यमंत्री ने कहा कि सरकार की सोच है कि गर्मी के इस मौसम में प्रदेश के हर नागरिक को शुद्ध पेयजल पानी मिले इसलिए अधिकारी सरकार की नीतियों का पालन करते हुए नारनौल के शहरी क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को पीने का पानी नियमित उपलब्ध कराएं। जहां कहीं पाइपलाइन, मोटर व अन्य जरूरत के सामान की आवश्यकता हो जिसमें मेरे सहयोग की जरूरत हो तुरंत मुझे बताएं। सरकार द्वारा हर संभव विभाग का सहयोग किया जाएगा। शहर व ग्रामीण क्षेत्र में पानी की समस्या आई तो विभाग के अधिकारी जिम्मेदार होंगे। वहीं सरकार की तरफ से उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर जन स्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता सुनील रंगा, एसडीओ अमित जैन के अलावा गजेंद्र यादव, सोमेश यादव, डॉ. सुनील यादव आदि उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस