जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : विधानसभा चुनाव में युवाओं ने रोजगार के नाम पर सबसे अधिक मतदान किया। युवाओं को उम्मीद है कि जो सरकार बनेगी वह युवाओं के लिए अधिक से अधिक रोजगार के साधन उपलब्ध कराएगी। निजी क्षेत्रों में भी प्रदेश के युवाओं को रोजगार मिलेंगे। इस बार विधानसभा चुनाव में ऐसा ही नजर आया। राष्ट्रवाद व विकास प्रदेश में हो रहे विकास को देख कर मजबूत सरकार बनाने के लिए युवा आगे आए। किसी को बेहतर कल की आस है तो कुछ युवाओं ने स्थानीय नेताओं के बजाए प्रदेश की बागडोर संभालने के लिए बेहतर मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के नाम पर वोट किया। विधानसभा का चुनाव होने के कारण अपने प्रदेश में रोजगार, विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य के मुद्दों पर वोट डाले। महिलाओं ने बेटी-बचाओ बेटी पढ़ाओ के नाम पर वोट दिया। बुजुर्गों ने सम्मान के नाम, देश के नाम पर वोट दिया। वहीं किसानों ने फसल के सही दाम मिलने, ट्यूबवेल कनेक्शन व कर्ज माफी के नाम पर वोट दिया।

विधानसभा चुनाव में 440 लोगों से बातचीत की तो उन्होंने ज्यादा रोजगार के नाम पर वोट दिया। वहीं तकनीकी शिक्षा बढ़ाने की बात कही। युवाओं का कहना था कि शिक्षा के लिए गांव-गांव में स्कूल, कॉलेज व तीन-चार जिलों पर विश्वविद्यालय भी है। ऐसे में युवा वर्ग शिक्षित तो हुआ है, लेकिन उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा है। रोजगार के लिए अभी भी दूसरे प्रदेशों या एनसीआर में जाना पड़ता है। ऐसे में अगर जिला स्तर पर ही रोजगार मिले तो काफी बेहतर है। महिलाओं की बढ़े सुरक्षा

मतदान केंद्रों पर पहुंची महिलाओं से महिला सुरक्षा के बारे में बातचीत की गई तो उनका कहना था कि महिलाओं की सुरक्षा अहम है। महिला सुरक्षा के लिए पुलिस थाने तो स्थापित हुए हैं, मगर सुरक्षा में कर्मचारी दिखाई नहीं देते। ऐसे में सार्वजनिक स्थानों पर महिलाएं अपने आप को असुरक्षित महसूस करती हैं। प्रदेश में विकास हो रहा है। इन मुद्दे रही मतदाताओं प्रमुखता

मुद्दों वोटर प्रतिशत

राष्ट्रवाद 80 16

रोजगार 120 37

शिक्षा 70 24

विकास 90 20

उम्मीदवार 80 03

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप