संवाद सहयोगी, लाडवा : धान का सीजन पूरे यौवन पर है। हर रोज मंडी में हजारों क्विंटल धान पहुंच रही है। लाडवा अनाज मंडी में खरीदी गई धान का उठान न होने से मंडी में जाम की स्थिति बनी हुई है। किसानों को मंडी में धान उतारने के लिए जगह नहीं मिल रही। इस समस्या से न केवल किसान, बल्कि आढ़ती, मजदूर, व्यापारी व प्रशासन भी परेशान है। समस्या से निजात पाने के लिए लाडवा अनाज मंडी की दोनों एसोसिएशनों ने संयुक्त रूप से फैसला लिया है कि वीरवार सायं पांच बजे से शनिवार सुबह छह बजे तक मंडी किसानों के लिए बंद रखी जाएगी। इस दौरान मंडी में केवल खरीदी गई धान का ही उठान होगा।

पिछले शनिवार-रविवार को भी मंडी बंद रखी गई थी और एसोसिएशनों के आदेशों का उल्लंघन करने वाले चार आढ़तियों पर दोनों एसोसिएशनों ने 11-11 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था। एक बार फिर वीरवार सायं पांच बजे से दोनों एसोसिएशनों ने किसानों के लिए शनिवार सुबह छह बजे तक मंडी बंद रखने का फैसला लिया गया। इसकी सूचना मिलते ही किसानों में हड़कंप मच गया। सूचना मिलने के बाद से ही किसान धान से लदी अपनी ट्रैक्टर-ट्रालियां लेकर मंडी में पहुंचने शुरू हो गए। न केवल लाडवा अनाज मंडी में जाम लग गया, बल्कि लाडवा की सभी सड़कें जाम हो गई। इस जाम को खुलवाने के लिए पुलिस को भारी परेशानी उठानी पड़ी। पूरा दिन शहर की सड़को पर लगे जाम से मुसाफिरों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। वीरवार दोपहर बाद ही शहर में जाम से कुछ राहत लोगों को मिली है। अब किसानों के लिए शनिवार सुबह छह बजे ही मंडी खुलेगी। इस दौरान मंडी से केवल खरीदी गई धान का उठान ही होगा।

आढ़ती पर 11 तो राइस मिलर्स पर लगेगा 21 हजार रुपये जुर्माना

लाडवा अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान बिमलेश गर्ग ने बताया कि वीरवार सायं छह बजे से शनिवार सुबह छह बजे तक लाडवा अनाज मंडी किसानों के लिए बंद रहेगी। यह फैसला दोनों एसोसिएशनों ने संयुक्त रूप से लिया गया है। इस दौरान यदि कोई भी आढ़ती मंडी में धान उतरवाता है तो उस पर 11 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। यदि राइस मिलर्स अपने राइस मिल में धान उतारते हुए पकड़ा गया तो उस पर 21 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। इसके लिए दोनों एसोसिएशनों संयुक्त टीम बनाई गई है जो सभी पर निगरानी रखेगी।

Edited By: Jagran