जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : गांव मिर्जापुर में बेमौसमी बारिश से एक आर्थिक रूप से कमजोर परिवार का आशियाना ढह गया। आशियाना गिरने से मलबे के नीचे एक गर्भवती महिला, दो छोटे बच्चे व एक वृद्धा दब गई। उन्हें मामूली चोटें आई हैं। पड़ोसियों ने बड़ी मशक्कत के बाद मलबे के नीचे से गर्भवती महिला व अन्य को निकाला गया। मकान गिरने का कारण मकान के समीप से एक नींव खोदना बताया गया है। हादसे के बाद से पूरा परिवार दहशत में है ।

गांव मिर्जापुर में रविवार की सुबह सात बजे अचानक मकान की छत गिर गई। मकान कड़ियों का बना हुआ था और आर्थिक रूप से कमजोर सतबीर, उसकी गर्भवती पत्नी पूनम, दो बच्चे व माता रह रही थी। जिस समय मकान की छत गिरी उस समय बारिश हो रही थी, सारा परिवार मकान के अंदर था। छत गिरते ही पड़ोसियों ने एकजुटता दिखाई और परिवार को मलबे से बाहर निकाला।

पीएम आवास योजना में भरा था फार्म

परिवार ने केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभ लेने के लिए फार्म भरा हुआ था, लेकिन उसे यह लाभ नहीं मिल पा रहा था। सतबीर ने बताया कि वह कई बार प्रशासनिक अधिकारियों से मकान बनाने के लिए सहायता की मांग कर चुका है लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। गांव के निवर्तमान सरपंच के पति सुरेंद्र का कहना है कि उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जरूरतमंद परिवारों के मकान बनाने के लिए 172 लोगों के आवेदन एडीसी कार्यालय में जमा कराए थे। वे खुद भी कई बार इन लोगों के मकान बनाने के लिए आवेदन स्वीकृत करवाने के लिए अधिकारियों से मिल चुका हैं।

Edited By: Jagran