संवाद सहयोगी, पिहोवा : शिक्षण संस्थाओं में अनुसूचित जाति के आरक्षण में ए और बी वर्गीकरण को लागू करने पर ब्लॉक ए से संबंधित लोगों ने खुशी जताई है। समाज के लोगों का कहना है कि राज्यमंत्री कृष्ण बेदी के अथक प्रयास से एक्ट बनाने को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने जींद की नई अनाज मंडी में संत कबीर दास की जयंती के अवसर पर आयोजित राज्यस्तरीय समारोह में मंच से घोषणा की। इसको लेकर वाल्मीकि मंदिर पिहोवा के प्रांगण में अनुसूचित जाति ब्लॉक ए से संबंधित लोगों की बैठक हुई। समाज के शोषित व वंचित वर्ग के लोगों को शिक्षा के क्षेत्र में अधिक अवसर उपलब्ध कराने के लिए सरकार का धन्यवाद किया और विनम्र मांग की गई कि मानसून सत्र में पंजाब और तमिलनाडु की तर्ज पर एक्ट बनाकर पास किया जाए। ए वर्ग का प्रतिनिधि मंडल जल्द मुख्यमंत्री से मिलकर प्रार्थना करेगा कि इसको नौकरियों में भी लागू किया जाए ।

अनुसूचित जाति ए ब्लॉक प्रजातांत्रिक मंच के प्रदेश संयोजक सतपाल गोगलिया ने कहा कि ए और बी के वर्गीकरण को लेकर मांग लंबे समय से की जा रही थी, लेकिन इसे समुचित तौर पर पूरा नहीं किया जा रहा था। बच्चों के विकास को देखते हुए शिक्षण संस्थानों में ए और बी वर्गीकरण के न होने से आरक्षण का लाभ बड़े स्तर पर अनुसूचित जाति ए ब्लॉक में आने वाली जातियों को नहीं मिल पा रहा था। इन मौके पर सुभाष आर्य, राम कुमार बिडलान, श्याम लाल बागड़ी, राम चंद्र, निखिल, कपिल, टिकू सांगर, अजय कल्याण, दीपक सहोता, नसीब सिंह उपस्थित थे।

Posted By: Jagran