संवाद सहयोगी, इस्माईलाबाद, लाडवा, बाबैन : कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी एवं पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सूरजेवाला बृहस्पतिवार को जिले में रहे। उन्होंने बाबैन व लाडवा में प्राइवेट डॉक्टरों को पीपीई किट दी और सरकार की अनदेखी करने पर निदा की। वे इसके बाद इस्माईलाबाद पहुंचे। उन्होंने उप तहसील कार्यालय के बाहर मेरा पानी-मेरी विरासत योजना के विरोध में धरना दिया।

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मेरा पानी मेरी विरासत के काले कानून को समाप्त कराने के लिए कांग्रेस किसानों के लिए सड़कों पर उतरेगी। इसके लिए हर प्रकार का संघर्ष किया जाएगा।

सूरजेवाला ने कहा कि धान का रकबा आधा करने का फरमान किसानों को उजाड़ने की सोची समझी चाल है। जल भराव वाले इलाकों में धान के अलावा दूसरी फसल की पैदावार नहीं की जा सकती है। वहीं ठेके पर जमीन लेकर काश्त करने वाला दूसरी फसल से खर्च भी पूरा नहीं कर पाएगा। इससे काफी लोग बेरोजगारी की राह पर खड़े हो जाएंगे। यही नहीं धान का रकबा कम कर चावल कारोबार को ठप्प करने का भी प्रयास है। सूरजेवाला ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार ने यह फरमान वापस नहीं लिया तो किसानों के लिए सड़कों पर उतरकर संघर्ष किया जाएगा। किसानों की धान बिकवाने के लिए मंडियों में डटेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार गेहूं का भुगतान देने में फिसड्डी साबित हुई है। इससे व्यापारी और किसान के बीच खाई खोदने का काम किया। गेहूं की पेमेंट देने में व्यापारी और किसान को गोल गोल घुमाया जा रहा है। इस मौके पर पूर्व विधायक अनिल धंतौड़ी, जिप के पूर्व सदस्य हरजोत सिद्धू, पूर्व चेयरमैन गोविद्र सिद्दू, बंटी गुंबर आदि मौजूद रहे।

इधार रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बृहस्पतिवार को लाडवा के सरकारी व निजी अस्पतालों में पीपीटी किट व मास्क बांटे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को कांग्रेस की ओर से प्रदेश में चलाई जा रही मुहिम से प्रेरणा लेनी चाहिए। इस संकट की घड़ी में प्रदेशवासियों की सहायता के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाने चाहिए। उन्होंने लाडवा के सरकारी सहित छह निजी अस्पतालों में 35 पीपीटी किट और मास्क वितरित किए। इस मौके पर मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन तरसेम बकाली, रुबल शर्मा, रण सिंह देशवाल व गुरमेल सिंह धनौरा मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस