जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : सुबह के 12 बजे हैं और अभी हम एलएनजेपी अस्पताल में खड़े हैं। यहां पंजीकरण और ओपीडी के बाहर लगी कतारें मरीजों का दर्द बढ़ा रही है। मरीजों को उपचार कराने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। वहीं तकनीकी खराबी होने के कारण एक्सरे मशीन भी बंद पड़ गई। लोगों का आरोप है कि वे एक्सरे कराने के लिए दो-दो घंटे से लाइन में खड़े हैं, लेकिन अब मशीन खराब हो गई। दूसरा कोई विकल्प भी अस्पताल प्रशासन के पास होना चाहिए। लोगों ने आरोप लगाया कि सरकारी अस्पताल में उपचार भले ही अच्छा मिले, लेकिन हर जगह लंबी कतार उनकी परेशानी को बढ़ाने का काम करता है। चिकित्सकों की ज्यादा भर्ती और नए उपकरणों की व्यवस्था की जाए तो समस्या का समाधान हो सकेगा। एलएनजेपी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मनजीत सिंह ने बताया कि अभी उन्हें मशीन खराब होने की जानकारी नहीं है। इस संदर्भ में जानकारी लेकर इंजीनियर को ठीक करने के लिए बुलाया जाएगा। अस्पताल में हर जगह लंबी कतार : रानी

इस्माईलाबाद के झींवरहेड़ी गांव की रहने वाली रानी देवी ने बताया कि उन्हें माइग्रेन की दिक्कत है। सुबह 10 बजे जांच कराने के लिए एलएनजेपी अस्पताल में आ गई थीं, लेकिन चिकित्सक ओपीडी के बाहर बैठे-बैठे 12 बज गए हैं। अब तक उनका नंबर नहीं पड़ा। दो घंटे से इंतजार कर रही हैं और आगे न जाने कितनी देर और लगेगी। गर्मी में मरीज यहां परेशान होते हैं। पहले पर्ची बनवाने के लिए लंबी कतार लगती है फिर चिकित्सक से परामर्श लेने के लिए कतार, फिर जांच कराने के लिए और दवा लेने के लिए भी लंबी कतार लगती है। इन कतारों से मरीजों को छुटकारा दिलाया जाना चाहिए। तीन घंटे से कतार में खड़ा हूं अब बोला मशीन खराब : भजन लाल

बारना गांव निवासी भजन लाल ने कहा कि एक्सरे कराने के लिए वह तीन घंटे से कतार में खड़ा था, लेकिन अब उन्हें कर्मचारी यह बता रहे हैं तकनीकी खराबी होने के कारण एक्सरे मशीन बंद हो गई है। अब कब तक ठीक होगी कुछ नहीं बताया जा सकता। उपकरण है खराब हो सकते हैं, लेकिन अस्पताल प्रशासन को विकल्प के तौर पर निजी एक्सरे केंद्र संचालक से तालमेल रखना चाहिए ताकि एक्सरे मशीन खराब होने की स्थिति में वहां पर एक्सरे कराए जा सकें। कोई विकल्प भी होना चाहिए अस्पताल प्रशासन के पास : रतनचंद

गांव टाटका निवासी रतनचंद ने बताया कि मुझे सिर में चोट लगी हुई है मगर अब इंतजार करने के बाद बताया जा रहा है कि मशीन खराब हो गई है। अब कब तक मशीन ठीक होगी कहा नहीं जा सकेगा। चिकित्सकों ने भी पहले एक्सरे करने की सलाह दी है। अस्पताल प्रशासन को चाहिए कि इस तरह की स्थिति के दौरान कोई विकल्प रखा जाना चाहिए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस