अनुज शर्मा, कुरुक्षेत्र : हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 10वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 59.70 फीसद रहा। यह गत वर्ष से नौ फीसद अधिक रहा। जबकि शिक्षा निदेशालय के निर्धारित 76 फीसद से कम रहा। गीता कन्या सीसे स्कूल अमीन रोड की प्रज्ञा पांडे ने 493 (98.8) फीसद अंक लेकर जिले को टॉप किया है। एसएमबी गीता सीसे स्कूल रेलवे रोड के सुबीर मंडल 492 (98.4) अंक लेकर दूसरे और बाबैन खंड के गांव मंगोली जाटान के रानी लक्ष्मीबाई सीसे स्कूल की पल्लक 491 (98.2) अंक लेकर तीसरे स्थान पर रही। टॉप थ्री में दो बेटियों ने स्थान बनाया है। जिला टॉपर को दैनिक जागरण से पता चला। इसके बाद उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी ने शुक्रवार देर शाम को 10वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम जारी किया था। शनिवार को परिणाम वेबसाइट पर जारी किया गया। बोर्ड के अनुसार जिले के 12105 विद्यार्थियों ने 10वीं कक्षा की परीक्षा दी थी। इनमें से 7227 विद्यार्थी पास हुए हैं। जबकि 941 विद्यार्थियों की कंपार्टमेंट और 3937 विद्यार्थी फेल हो गए। जिले का पास प्रतिशत 59.70 रहा।

76 फीसद किया था परीक्षा परिणाम निर्धारित जिले का इस बार परीक्षा परिणाम 76 फीसद निर्धारित किया था। विशेषज्ञों की माने तो इस बार 10वीं कक्षा की परीक्षा लॉकडाउन में फंस गई थी। विज्ञान विषय का पेपर नहीं हो पाया था। बोर्ड ने पेपर लेने की कई बार तैयारी की, लेकिन परीक्षा नहीं ली जा सकी। ऐसे में जिले का गत वर्ष से परीक्षा परिणाम तो सुधरा, लेकिन निर्धारित लक्ष्य से 17 फीसद कम आया। शिक्षा अधिकारियों ने अपनी कमियों को स्वीकारा है। उनका कहना है कि परिणाम अपेक्षाकृत न आने में अधिकारियों, अध्यापकों और बच्चों की कमी रही है। भविष्य में कमियों को दूर कर परिणाम बेहतर किया जाएगा।

कुरुक्षेत्र की धरती पर लिया था परिणाम सुधारने का संकल्प

गत वर्ष परीक्षा परिणाम निराशाजनक आया था। शिक्षा विभाग ने कुरुक्षेत्र में 31 जनवरी 2020 को सीधा संवाद कार्यक्रम किया था। शिक्षा विभाग के एसीएस और निदेशक ने प्रदेशभर के डीईओ, डीईईओ, बीईओ व डाइट प्रिसिपल से खुलकर बात की थी। जिसमें पिछले वर्षों की रिपोर्ट को देखते हुए जिलों को लक्ष्य दिया था। कुरुक्षेत्र में 51.45 फीसद रिजल्ट को देखते हुए 2020 में 76 फीसदी का लक्ष्य दिया गया था। इसके अलावा अन्य जिलों का भी लक्ष्य निर्धारित किया था। 10वीं का पिछले तीन सालों का रिजल्ट

वर्ष फीसद

2017 37.12

2018 41.34

2019 51.45

2020 59.70 कमियों को ढूंढकर उन्हें दूर किया जाएगा

हम अपने रिजल्ट को ओर बेहतर बना सकते थे। लेकिन कहीं ना कहीं हमारी, अध्यापकों व कुछ बच्चों की भी कमी रही। जिस कारण निदेशालय की ओर से दिए गए लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाएं। अभी रिजल्ट को लेकर विश्लेषण किया जाएगा और कमियों को ढूंढकर उन्हें दूर किया जाएगा।

अरुण आश्री, जिला शिक्षा अधिकारी, कुरुक्षेत्र।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस