फोटो संख्या : 40

जतिन्द्र ¨सह चुघ, शाहाबाद : शाहाबाद में पूर्व विधायक अनिल धंतौड़ी के नेतृत्व में आयोजित बदलाव रैली कांग्रेस के उन कार्यकर्ताओं की हवा निकाल गई है जो आने वाले विधानसभा चुनाव में स्वयं को टिकट का दावेदार समझते बैठे थे। विधानसभा चुनावों से लगभग डेढ़ वर्ष पूर्व इतनी सफल रैली का आयोजन कर पूर्व विधायक अनिल धंतौड़ी ने कांग्रेस हाई कमान को प्रसन्न करने का काम किया है। इसी रैली की बदौलत कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला पूर्व विधायक की टिकट पर मुहर लगा गए हैं। इस रैली की सफलता से जहां विपक्षी पार्टियों को ठेस पहुंची हैं वहीं कांग्रेस के उन वर्करों को भी घात लगी है जो छुट-पुट नुक्कड़ सभाएं करके स्वयं को कांग्रेस की टिकट का दावेदार मान रहे थे। इनमें कुछ प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के समर्थक थे और कुछ पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र ¨सह हुड्डा के। इसलिए इन दावेदारों ने इस रैली से दूरी बनाए रखी। हालांकि रैली स्थल को भी रणदीप सुरजेवाला, सोनिया गांधी व राहुल गांधी के फलेक्सों से चमकाया गया, लेकिन प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री के फलेक्स नजर नहीं आए। हालांकि पूर्व विधायक की बदलाव रैली सौ फीसदी सफल रही है, क्योंकि इस रैली के लिए सजा पंडाल भी छोटा पड़ गया था। हालांकि पूर्व विधायक को रैली विशेषज्ञ के रूप में जाना जाता है और इस बार भी उन्होंने अपनी रैली को सफल कर दिखाया। वहीं कांग्रेस टिकट के लिए घूम रहे करीब 10-12 दावेदारों को भी अब अपने चहेतों की बड़ी रैली करके इम्तिहान में पास होना होगा, लेकिन फिलहाल अनिल धंतौड़ी ने दिखा दिया है कि विधायक कार्यकाल में उन्होंने जो विकास कराया उसका पूरा समर्थन जनता उन्हें दे रही है। पूर्व विधायक ने जनता से इस लबरेज रैली में कहा कि उनकी सरकार आने पर भी शाहाबाद का विकास होगा, लेकिन राज्यमंत्री बेदी के कारण शाहाबाद क्षेत्र पांच साल में पिछड़ कर रह गया है।

Posted By: Jagran