जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : विद्या भारती के राष्ट्रीय मंत्री शिव कुमार ने कहा कि विद्यार्थियों की प्रतिभा को आंकने के लिए परीक्षा परिणाम कोई पैमाना नहीं है। विद्यार्थी को अपनी जीवन में अनेक शिक्षण, सामाजिक, व्यवसायिक परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है। जो विद्यार्थी इन सब में सफल होता है वही उत्कृष्ट बनता है। वह शनिवार को विद्या भारतीय संस्थान के सभागार में पूर्व छात्र परिषद की ओर से आयोजित कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम में उत्कृष्ट उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चों को सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को अपनी खूबियों, कमियों, मौकों व जीवन में आने वाले खतरों को ध्यान में रखते हुए मेहनत करनी चाहिए। प्रदेश संगठन मंत्री रवि कुमार ने कहा कि सम्मान मिलने पर विद्यार्थी में आत्मविश्वास बढ़ता है तथा उनमें आगे बढ़ने का हौसला होता है। जेब्रा टेक्नालॉजी के निदेशक पंकज गोस्वामी ने कहा कि बच्चों को अपना भविष्य बनाने के लिए जोखिम लेना चाहिए। उन्हें मिलने वाले मौके को भुनाते हुए आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने सम्मानित हुए छात्रों को हमेशा अनुशासन में रहने का आह्वान किया। पूर्व छात्र परिषद के प्रांत सचिव डॉ. पंकज शर्मा ने सभी अतिथियों का परिचय करवाया और बताया कि परिषद हर वर्ष उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित करती है। नवीन गोस्वामी ने विद्यार्थियों को विभिन्न विषयों में दाखिला लेने बारे जानकारी सांझा करते हुए अनुसंधान व रक्षा के क्षेत्र में दाखिला लेने बारे बताया। इस मौके पर क्षेत्र संगठन मंत्री विजय नड्ढा, ललित बिहारी गोस्वामी, डॉ. ऋषिराज वशिष्ठ, बालकिशन, सुरेंद्र अत्री, चेतराम, संजय चौधरी, अनिल कुलश्रेष्ठ, कमल बजाज , कशिश पाहवा, विकास गाबा, राजविज मौजूद रहे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran