Move to Jagran APP

Cyber Fraud: ऑनलाइन ट्रेडिंग करने वाले हो जाएं सावधान! ठगों ने महिला को लगाया 40 लाख का चूना, ऐसे दिया ठगी को अंजाम

कुरुक्षेत्र से एक महिला के साथ 40 लाख से ज्यादा की साइबर ठगी का मामले सामने आया है। इस मामले में साइबर थाना पुलिस ने महिला के द्वारा की गई शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। यह ठगी की घटना महिला के साथ ऑनलाइन ट्रेडिंग के नाम पर हुई और महिला को झांसे में लेकर ठगों ने ठगी की।

By Satvinder Singh Girn Edited By: Shoyeb Ahmed Tue, 09 Jul 2024 11:31 PM (IST)
साइबर अपराधियों ने महिला से ठगे 40 लाख

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र। साइबर थाना पुलिस ने ऑनलाइन ट्रेडिंग के नाम पर एक महिला से 40 लाख 49 हजार रुपये की ठगी करने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपितों ने महिला को झांसा देकर ऑनलाइन ठगी की।

सेक्टर चार निवासी स्वाति ने साइबर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि पिछले 9-10 महीने से जरोधा एप से ट्रेडिंग कर रही थी। आठ अप्रैल को उसे वाट्सएसप ग्रुप पर ज्यूपिटर बिजनेज स्कूल में जोड़ दिया गया। जिसके एडमिन देव व्यास व सुनीता थे। इस ग्रुप में पहले से करीब 100 व्यक्ति मौजूद थे।

इस ग्रुप में हर रोज एक वीडियो आती थी जिसमें स्टॉक से संबंधित जानकारी दी जाती थी। ग्रुप में किसी भी प्रकार के सवाल जवाब के लिए असिस्टेंट सुनीता का नंबर दिया गया था। जिससे काफी बार बातचीत हुई। जिसकी मदद से उसने जरोधा एप में ट्रेडिंग करके करीब 10 दिन तक काफी अच्छा प्रोफिट भी कमाया।

ग्रुप में शेयर किए शपथ पत्र

उसके बाद सुनीता व देव व्यास ने उसे इंस्टीट्यूशल एकाउंट पर ट्रेडिंग के बारे में बताया। उसे बताया कि वह किसी कंपनी के साथ डायरेक्ट मोलभाव करके शेयर छूट पर खरीद सकते हैं। जिसके बाद सुनीता व देव व्यास ने ग्रुप में काफी सारे शपथ पत्र भी शेयर किए।

जिनको उसने गुगल से वेरिफाई भी किया। जिसके बाद उसे लगा कि ये कंपनी रियल है। उसके बाद उसने इस पर खाता खुलवाया। उसने पैन कार्ड व अपनी डिटेल शेयर कर दी। उसका खाता खुल गया।

खातों में डलवाए रुपये

उसने सुनीता व देव व्यास के बताए अनुसार अपने एचडीएफसी व एक्सिस बैंक खाते से अलग-अलग तिथियों में कुल 40 लाख 49 हजार रुपये डलवा दिए। जब उसने पैसे निकलवाने की कोशिश की तो सुनीता ने उसे कहा कि वह पहले 45 लाख रुपये ओर जमा कराएं। उसने मना कर दिया।

जिस पर सुनीता ने देव व्यास से बात करके बताया कि वह 8 लाख रुपये जमा करवा दे। जिसके बाद देव व्यास ने उसे वाट्सएप पर मैसेज किया कि इसके अलावा ओर कोई रास्ता नहीं है। उसे आठ लाख रुपये जमा कराने होंगे। शिकायत के आधार पर साइबर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

ये भी पढ़ें-

Haryana News: वैट घोटाला मामले में ED का बड़ा एक्शन, हरियाणा में 14 जगहों पर छापेमारी जारी

Haryana News: सीएम सिटी करनाल में पेयजल व्यवस्था की हालत बदतर, नल से घर पर पानी की जगह आ रही बीमारियां