जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : सीआइए-वन की टीम ने चोरी के जेवर खरीदने के मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपित ज्योतिसर निवासी रिकू के कब्जे से चोरी किए चांदी के जेवरात व 10 हजार रुपये की नकदी बरामद हुई है। आरोपित को अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

डीएसपी मुख्यालय सुभाष चंद्र ने बताया कि दीदार नगर निवासी नवाब सिंह 11 अप्रैल को केयूके थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि वह नौ अप्रैल 2021 को चंडीगढ़ गया। वह घर के सभी खिड़की दरवाजे बंद करके और मुख्य द्वार को ताला लगा कर गया था। 11 अप्रैल को जब वह घर वापस आया तो उसने देखा कि मकान के ताले टूटे हुए थे। अलमारी व बैड में रखे सोने-चांदी के जेवर व 20 हजार रुपये नकद चोरी थे। पुलिस ने शिकायत पर केस दर्ज कर जांच की। 17 अप्रैल को एसआइ जगदीश चंद्र की टीम ने आरोपित गांव धुराला निवासी रवि कुमार उर्फ दुली व हंसाला निवासी गुरदास उर्फ मिट्ठू गिरफ्तार किया था। पूछताछ पर आरोपितों ने बताया कि उन्होंने जेवर ज्योतिसर निवासी विनोद व रिकू को बेचे थे। आरोपितों ने पुलिस को सोने व चांदी के जेवरात बरामद करवाए थे। आरोपियों को अदालत में पेश किया। अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

अदालत के आदेश से बरामद किए गए जेवर शिकायतकर्ता को सौंपे गए। उन जेवरों को शिकायतकर्ता ने चेक कराया तो वे आर्टिफिशियल थे। आरोपितों ने पुलिस को धोखा देने की नियत से नकली जेवरात बरामद कराए थे। बाद में मामले की जांच सीआइए-वन को सौंपी गई। सीआइए-वन के प्रभारी जसपाल सिंह ढिल्लों, एएसआइ प्रेम चंद, मुख्य सिपाही नवदीप सिंह व सिपाही भजन सिंह की टीम ने जेवर खरीदने के आरोप में ज्योतिसर निवासी विनोद को मामले की जांच में शामिल किया। आरोपित के कब्जे से चोरी किए चांदी के जेवरात व 10 हजार रुपये नकदी बरामद की। पुलिस टीम ने जेवर खरीदने के दूसरे आरोपित ज्योतिसर निवासी रिकू को गिरफ्तार किया। अदालत ने उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

Edited By: Jagran