संवाद सहयोगी, लाडवा : नगर पालिका चेयरपर्सन साक्षी खुराना ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 900 लोगों के आवेदनों को स्वीकृत किया गया था, जिसमें से 186 लोगों को निर्माण के लिए पत्र जारी किए जा चुके हैं। इसमें से 130 लोगों को निर्माण कार्य के लिए एक-दो किस्तें जारी की जा चुकी हैं। इन पात्र लोगों का काम अंतिम किस्त के इंतजार में अटका पड़ा है। इस योजना में आए साढ़े चार करोड़ में से अभी भी सवा करोड़ रुपये बचे पड़े हैं।

नगर पालिका चेयरपर्सन साक्षी खुराना, उपप्रधान अनिल माटा व पार्षदों ने पत्रकारवार्ता कर इस योजना का काम देख रहे कर्मचारियों पर फाइलें अटकाने का आरोप लगाया है।

चेयरपर्सन साक्षी खुराना ने कहा कि इन लोगों की फाइलें नगरपालिका के जेई प्रदीप गुप्ता ने कागजात पूरे न होने का बहाना बनाकर रोक रखी हैं, जबकि इन लोगों ने फाइल जमा कराते समय मांगे गए सभी दस्तावेज नगरपालिका में जमा करा दिए थे। चेयरपर्सन साक्षी खुराना सहित वहां मौजूद पार्षदों ने जेई प्रदीप गुप्ता पर आरोप लगाते हुए कहा कि जेइ लोगों की फाइलें पूरी करने के लिए कहने पर अपने डिप्रेशन में होने का बहाना बनाकर एक-एक माह तक फाइलों को अटका कर रखता है, जिससे प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ-साथ अन्य काम भी रूके रहते हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के रवैये के कारण सर्दी के मौसम में लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है, जिन्होंने योजना में आवेदन कर अपने मकान गिरा कर दिए थे और एक-दो किस्तें मिलने पर उनके मकान आधे-अधूरे ही बन पाए हैं। उन्होंने कहा कि वे लोगों के साथ इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों व सरकार से करेंगें।

नगरपालिका सचिव हरिओम कांबोज ने सभी आरोपों को पूरी तरह बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि नगरपालिका में कार्यरत सभी अधिकारी व कर्मचारी पूरी जिम्मेदारी से काम करते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना की जो फाइलें अटकी हुई हैं उनमें दस्तावेजों की त्रुटियां हैं। नपा सचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना व नगर निकाय विभाग ने इन फाइलों की थर्ड पार्टी जांच कराई थी जिसमें जांच टीम ने मौके पर जाकर व दस्तावेजों की जांच की थी जिसमें 155 फाइलों में कमियों पाई गई हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि नपा चेयरपर्सन, पार्षद जानबूझकर उच्चाधिकारियों के पास नपा अधिकारियों की झूठी शिकायतें भिजवाते हैं। जनप्रतिनिधि अधिकारियों व कर्मचारियों से बदतमीजी से पेश आते हैं, जिससे सभी अधिकारी व कर्मचारी परेशान हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस