जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : श्री महावीर जैन पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य मंजूला गोयल ने कहा कि 23 मार्च का दिन भारतीय इतिहास में गर्व का दिन है। इस दिन भारत मां के रणबाकुरों को फांसी के फंदे पर लटका दिया गया था। भारत मां को आजादी करवाने का सपना लिए ये देशभक्त हंसते-हंसते फांसी के फंदे पर झूल गए। समस्त भारतवर्ष इनके बलिदान का ऋणी है और भारतीय इतिहास में इन शहीदों का नाम अमर रहेगा। वे स्कूल में विद्यार्थियों को शहीदी दिवस के बारे में बता रही थीं।

उन्होंने कहा कि आज हमारे देश के युवावर्ग को इन महान शहीदों से प्रेरणा लेनी चाहिए, क्योंकि जिस युवावस्था में इन क्रांतिकारियों ने अपना जीवन आजादी के लिए होम कर दिया। आजकल के युवा अपने जीवन पथ से भटके हुए हैं, वे नशाखोरी, लूटपाट, चोरी आदि कार्यों में संलग्न रहते हैं। युवावर्ग को चाहिए कि वह राष्ट्रहित को सर्वोपरि समझे तथा शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरू, सुखदेव जैसे महान क्रांतिकारी के जीवनवृत को अपनाएं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप