जागरण संवाददाता, कैथल :

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि 23 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना का कार्य किया जाएगा। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के पांच-पांच वीवीपैट मशीनों का रैंडमली चयन करके उनकी पर्चियों की गिनती की जाएगी। मतगणना के दौरान सभी अधिकारी व कर्मचारी पूरी सावधानी से कार्य करेंगे।

डॉ. प्रियंका सोनी लघु सचिवालय स्थित सभागार में आयोजित एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के दौरान मतगणना की जिम्मेदारी निभाने वाली काउंटिग सुपरवाईजर, काउंटिग सहायक तथा माइक्रो आब्जर्वर को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रही थी।

एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में 240 अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया गया तथा मतगणना के कार्यों को सही प्रकार से करने के लिए लघु फिल्म के माध्यम से भी जानकारी दी गई। उपायुक्त ने कहा कि मतगणना के कार्य में सावधानीपूर्वक कार्य किया जाए। किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर अपने संबंधित एआरओ से तुरंत संपर्क करें। उन्होंने लोकतंत्र के पर्व में भूमिका निभाने वाले कर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि जिला में चुनाव शांति पूर्ण संपन्न कर लिया गया है। चुनाव प्रक्रिया का अंतिम महत्वपूर्ण कार्य मतगणना का होगा, जोकि 23 मई को करवाया जाएगा।

तीन जगहों पर बनाए गए मतणगना केंद्र

डीसी ने कहा कि जिला की चारों विधानसभा क्षेत्र के अलग-अलग मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। कैथल विधानसभा क्षेत्र की गणना आरकेएसडी कॉलेज के हॉल, कलायत विधानसभा क्षेत्र की गणना आरकेएसडी पब्लिक स्कूल के हॉल, पूंडरी विधानसभा क्षेत्र की गणना आईजी कॉलेज के कॉमन कक्ष तथा गुहला विधानसभा क्षेत्र की गणना आईजी कॉलेज के ही हॉल में की जाएगी। प्रत्येक मतगणना केंद्र पर 14 टेबल लगाई जाएंगी, जिन पर एक काउंटिग सुपरवाईजर, एक काउंटिग सहायक तथा एक माईक्रो आब्जर्वर नियुक्त होगा। मतगणना के कार्य में लगे सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को 22 मई को रैंडमली प्रणाली से विधानसभा क्षेत्र आवंटित किए जाएंगे।

डीसी कहा कि मतगणना के लिए टेबल पर पहले केवल सीयू (कंट्रोल यूनिट) लाई जाएगी। संबंधित अधिकारी व कर्मचारी एड्रैस टैग की जांचकरके उसकी सील खोलेंगे और मतगणना एजेंटों को प्रदर्शित करते हुए रिजल्ट निकालेंगे। मतों की गणना होने के बाद फार्म 17 सी का पार्ट-2 भरकर सुपरवाइजर व काउंटिग एजेंटों के हस्ताक्षर करवाकर उसकी एक प्रति सहायक रिटर्निंग अधिकारी को देनी होगी।

प्रत्येक राउंड का परिणाम प्राप्त होने के बाद उसे सुविधा पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। प्रत्येक कंट्रोल यूनिट के परिणाम प्राप्त होने के बाद इसे सभी काउंटिग एजेंट को दिखाकर उनकी संतुष्टि करवाई और इसके उपरांत परिणाम सीट पर काउंटिग एजेंट के हस्ताक्षर करवाए जाएं। मतगणना का कार्य सीसीटीवी कैमरे की नजर में होगा। सभी अधिकारी व कर्मचारी पूरी जिम्मेदारी से कार्य करें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप