जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र:

सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा धान की सरकारी खरीद न करने से खफा होकर भाकियू की एक बैठक गुरुवार को लाडवा किसान विश्राम गृह में हुई, जिसकी अध्यक्षता ब्लाक प्रधान अजीत सिंह ने की। बैठक में सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा लाडवा अनाज मंडी में धान की खरीद न करने के विरोध में सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। विरोध स्वरूप नारेबाजी करती भाकियू खरीद एजेंसी खाद्य एवं आपूर्ति विभाग कार्यालय पहुंच गए। रोष प्रकट करते हुए भाकियू के ब्लाक प्रधान अजीत सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा धान की खरीद न करने से किसान का धान बिक नहीं रहा है, जिससे किसानों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने सरकारी खरीद एजेंसी पर आरोप लगाया की खरीद एजेंसी अधिकारी उनकी समस्या सुनने की बजाए अपना कार्यालय छोड़कर फरार हो गए, जिससे उनका गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया और उन्होंने कार्यालय में ही सरकार व अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर दी। प्रदर्शन करने के बाद विभाग का अधिकारी मौके पर पहुंचा तथा कहा कि उनके पास सरकार के आदेश है कि हम कोई भी खरीद नहीं कर सकते। आदेशों के चलते वह धान की खरीद नहीं कर रहे। यदि सरकार या उच्च अधिकारी खरीद करने की परमीशन देते हैं तो वह धान की खरीद शुरू कर देंगे। खरीद शुरू न करने से खफा होकर भाकियू ने चेतावनी दी है की यदि एक नवंबर तक धान की खरीद शुरू नहीं की तो उनको मजबूरन किसानों के साथ मिलकर सड़कों पर उतरना पड़ेगा, जिसकी पूरी जिम्मेदारी खरीद एजेंसी, सरकार व प्रशासन की होगी। रोष प्रकट करने वालों में धर्मबीर नेहरा, राजपाल बपदा, मदन पाल बपदा, धर्मपाल बपदा, ईश्वर बन, शिव कुमार बन, रणदीप, प्रेम चंद, शिव कुमार गादली, जगीर सिंह, कर्म सिंह बूढ़ा, राजेश मंगौली उपस्थित रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021