-उपायुक्त मुकुल कुमार ने गांव खेड़ी मारकंडा में किया अंत्योदय मेले का शुभारंभ

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : डीसी मुकुल कुमार ने सोमवार को खेड़ी मारकंडा में थानेसर के तीन दिवसीय मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेले का उद्घाटन किया।

उन्होंने कहा कि अंत्योदय परिवार उत्थान योजना आत्मनिर्भर भारत की दिशा में मुख्य कदम है। प्रदेशभर में अंत्योदय मेलों का आयोजन कर लाभार्थियों को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से सीधे तौर पर लाभान्वित किया जा रहा है। इसमें वार्षिक आय आय को एक लाख 80 हजार रुपये तक पहुंचाना लक्ष्य रहेगा। तीन फेज में पात्रता निर्धारित की गई है और उसी अनुरूप योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों को अंत्योदय मेले से दिया जा रहा है। गरीब परिवारों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना लागू की गई है। इस योजना का लक्ष्य पंक्ति में खड़े अंतिम परिवार को आगे लाना है। इसके लिए 42 योजनाएं चिह्नित की गई हैं। स्व-रोजगार के लिए कृषि, मत्स्य, पशुपालन व डेयरी जैसे व्यापारिक, औद्योगिक क्षेत्रों में व्यवसाय के साथ-साथ स्किलिग में निपुण करने के लिए कंप्यूटर, चालक, सिलाई कढ़ाई के प्रशिक्षण भी शामिल हैं। उपायुक्त ने कहा कि मेले में 23 विभागों के स्टाल लगाए गए हैं, इसके अलावा बैंक की ओर से स्टाल भी लगाया गया है। मेले में आने वालों को कई योजनाओं की उपयोगी जानकारियां मिल सकेगी। इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

इस अवसर पर मेले के नोडल अधिकारी सतबीर सिंह कुंडू, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरजीत कौर, जिला बाल कल्याण अधिकारी सर्बजीत सिंह सीबिया मौजूद रहे।

Edited By: Jagran