जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : जिले में मंगलवार को डेंगू का एक और मामला सामने आया। चक्रवर्ती मोहल्ला में एक महिला डेंगू की चपेट में मिली है। इस वर्ष अब तक जिले में 12 मामले सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग ने मोहल्ला में एंटी लार्वा अभियान चलाया तो कई और संदिग्ध डेंगू के मरीज सामने आ गए। विभाग की टीम ने मरीज के घर के आसपास का एरिया खंगाला तो एक घर में फ्रिज के पीछे लगी व्यर्थ पानी से भरी ट्रे में हजारों की तादाद में डेंगू का लारवा मिला। टीम ने मकान मालिक को नोटिस देकर आगे से इसका ध्यान रखने की सख्त हिदायत दी। वहीं संदिग्ध मरीजों का आंकड़ा 440 से ज्यादा पहुंच चुका है। 326 डेंगू के मामले मिले थे पिछले वर्ष स्वास्थ्य विभाग को पिछले वर्ष 326 डेंगू के मरीज मिले थे, जबकि संदिग्ध मरीजों की संख्या 1100 थी। इस वर्ष स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संदिग्ध मरीजों का आंकड़ा भले ही 440 ही हो, लेकिन धरातल पर यह आंकड़ा कहीं ज्यादा है। निजी अस्पतालों में ज्यादातर लोग प्लेटलेट्स कम होने की समस्या को लेकर उपचार कर रहे हैं। कई गांवों में इसका जबरदस्त प्रकोप है। ऐसे मिले मामले

साल डेंगू के पुष्ट मामले मलेरिया के मामले

2018 12 9

2017 320 40

2016 62 136

2015 192 197

12 मामले आए अब तक सामने : डॉ. सुदेश

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. सुदेश सहोता ने कहा कि अभी तक जिलेभर में डेंगू के 12 मामले ही मिले हैं। डेंगू व मलेरिया पर लगाम लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस रखी है। लोगों को डेंगू व मलेरिया के प्रति जागरूक करने के लिए अब तक स्वास्थ्य विभाग ने एक लाख 64 हजार पंपलेट छपवाएं हैं, जिन्हें शहर भर में बांटा गया है। स्वास्थ्य विभाग ने 566 तालाबों में गंबूजिया मछली छोड़ी हैं। पिछले साल के मुकाबले इस साल डेंगू के काफी कम मामले मिले हैं। जिस एरिया में डेंगू के संदिग्ध मामले सामने आते हैं स्वास्थ्य विभाग की टीम उस एरिया में जाकर मरीजों के सैंपल लेती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप