जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र के लैंड मोरगेज बैंक के निदेशक मंडल चुनावों में भारी अनियमितताएं बरतने का मामला सामने आया है। इस मामले में 17 आवेदनों में से 15 आवेदन बगैर कारण बताए रद करने पर कई सदस्यों ने बृहस्पतिवार को मामले की शिकायत डिप्टी रजिस्ट्रार को सौंपी है। डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय में शिकायत पहुंचने सदस्यों ने बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पर अपने परिवार के सदस्य को ही निदेशक बनाए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने चुनावों में की गई नियमों की अनदेखी के मामले को अदालत के सामने उठाने की बात कही है।

लघु सचिवालय स्थित डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय पहुंचे जसमेर सिंह, देवी सिंह, नौरंग, सुभाष सैनी, राजकुमार व दर्शन सिंह ने कहा कि लैंड मोरगेज बैंक के निदेशक मंडल के चुनावों के लिए 10 जून को नामांकन होना था। इन सात जोन के लिए 17 सदस्यों ने अपने-अपने जोन से आवेदन किया था। चुनाव अधिकारी को नियमानुसार शाम तक पहुंचे आवेदनों की सूची को सार्वजनिक करना था, लेकिन अधिकारी गलत मंशा से इस सूची को ही सार्वजनिक नहीं किया। इसके बाद नियमानुसार 11 जून को आपत्ति ली जानी थी, लेकिन अधिकारियों ने किसी की आपत्ति भी नहीं ली और ना ही किसी सदस्य को इसे बारे में कोई जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 12 जून को बैंक अधिकारी और चुनाव अधिकारी ने मिलीभगत कर बगैर किसी को सूचना दिए 15 आवेदनों को रद कर दिया। ऐसे में पांच जोन के चुनावों के सभी आवेदनों को रद करते हुए दो जोन के निदेशकों के नाम तय कर दिए। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन दो जोन के महिला निदेशक घोषित किए गए हैं उनमें से भी एक बैंक अधिकारी के परिवार की सदस्य है और दूसरी बैंक से सेवानिवृत्त अधिकारी की रिश्तेदार है। उन्होंने कहा कि निदेशक के चुनावों में पूरी तरह से नियमों की अनदेखी की गई है। उन्होंने डिप्टी रजिस्ट्रार से इस पूरे मामले की जांच कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस