कुरुक्षेत्र, [वेब डेस्क]। देश की सीमा की रक्षा के लिए हरियाणा के एक और वीर सपूत ने शहादत दे दी। कुरुक्षेत्र के पिहोवा के सुश्ाील कुमार जम्मू-कश्मीर में भारत-पाकिस्तान सीमा गोलीबारी में शहीद हो गए। पाकिस्तान की अोर से गोलीबारी की जवाब में बीएसएफ ने भी फायरिंग की और इसी दौरान वह शहीद हो गए।

उनकी शहादत की खबर मिलते ही यहां शोक व्याप्त हो गया। सुशील के घर वालों को इसकी सूचना आज सुबह मिली। सूचना मिलते ही परिवार शोक में डूब गया।सुशील 1992 में सीमा सुरक्षा बल में भर्ती हुए थे। वह बीएसफ की 127 बटालियन में जम्मू के आरएसपुरा सेक्टर में तैनात थे।

शहीद का पार्थिव शरीर को मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनके परिवार में उनकी पत्नी सुनीता, बूढ़ी मां सोमादेवी और 12 वीं में पढ़ रहा बेटा मोहित व 10 वीं में पढ़ रही बेटी महक है।

रात में हुई मां से बात तो बोला दीपावली मना रहे हैं

सुशील कुमार ने रात अपनी मां सोमादेवी से फोन पर बात की थी। सोमादेवी ने बताया कि रात को सुशील कुमार से फोन पर उनकी बात हुई। फोन में पीछे से गोलियां चलने की आवाज आ रही थी तो मां ने पूछा कि ये गोलियां चलने की आवाज क्यों आ रही है, तो सुशील ने जवाब दिया की मां हम दीपावली मना रहे हैं।

शहीद सुशील कुमार के घर पर शोक जताने पहुंचे लोग।

इस पर सोमादेवी ने कहा कि अभी तो दीपावली में कई दिन बाकी है तो सुशील कुमार ने कहा कि यहां तो हर रोज दीपावली मनाई जाती है। इसके बाद सुबह सुशील कुमार के शहीद होने की खबर आई। उनके दो छोटे भाई भी हैं।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस