जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : सीआइए-टू ने जेल में चेकिग में मिले मोबाइल मामले में एक और आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपित गणेश कालोनी निवासी साहिल ने मोबाइल फोन जेल के बाहर से अंदर फेंका था। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

पुलिस प्रवक्ता नरेश सागवाल ने बताया कि डीएसपी नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में सात जुलाई को सीआइए-वन, टू व एंटी नारकोटिक सैल की टीम ने जेल अधिकारियों की अनुमति से जेल में चेकिग अभियान चलाया था। पुलिस टीम ने जेल के बैरक नंबर एक की चेकिग के दौरान कमरा नंबर चार में हत्या के मामले में बंदी दिलाबग सिंह उर्फ बग्गा की तलाशी लेने पर उसकी जेब से एक मोबाइल फोन का की-पैड बरामद हुआ था। पुलिस की पूछताछ पर आरोपित दिलबाग ने बताया कि उसने यह मोबाइल फोन बंदी जगतार उर्फ हवारा से लिया था। आरोपितों के खिलाफ शहर थाना पुलिस में जेल अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जांच सीआइए-टू के एएसआइ सतविद्र सिंह चट्ठा को सौंपी गई। एएसआइ सतविद्र सिंह चट्ठा की टीम ने आरोपित दिलबाग सिंह बग्गा व जगतार उर्फ हवारा को अदालत में पेश कर एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया।

ट्रक और ट्राले की भिड़ंत में क्लीनर की मौत

संवाद सहयोगी, पिपली : राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित गांव ईशरगढ़ पुल पर सोमवार सुबह सड़क हादसे में ट्रक क्लीनर गंभीर रूप से घायल हो गया। ट्रक चालक ने ट्रक में फंसे क्लीनर को गंभीर हालत में एंबुलेंस से एलएनजेपी अस्पताल भिजवाया, जहां चिकित्सकों ने क्लीनर को मृत घोषित कर दिया। सदर थाना पुलिस ने ट्रक चालक की शिकायत पर अज्ञात ट्राला चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ट्रक चालक उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर के गांव हरखी दौलतपुर निवासी शिव कुमार ने सदर थाना पुलिस में दी शिकायत में बताया कि वह गुरुग्राम से गाड़ी में पेपर लोड करके हिमाचल प्रदेश के बद्दी के लिए जा रहा था। उसके साथ गाजीपुर निवासी पंकज गिरी क्लीनर के तौर पर गाड़ी में सवार था। पंकज गिरी उसके साथ साइड वाली सीट पर बैठा था। जब वे सोमवार की सुबह पांच बजे ईशरगढ़ पुल के पास पहुंचे तो उनके आगे तेज गति से जा रहे ट्राला के चालक ने अचानक ब्रेक लगा दी। जिससे ट्राले के साथ भिड़ंत हो गई। जिसमें क्लीनर पंकज गिरी गंभीर रूप से घायल हो गया और ट्रक के अगले हिस्से में फंस गया। राहगीरों की मदद से पंकज को गंभीर हालत में ट्रक से निकाला और एंबुलेंस की मदद से उसे एलएनजेपी अस्पताल में भिजवाया, जहां चिकित्सकों ने पंकज गिरी को मृत घोषित कर दिया। शिव कुमार की शिकायत पर थाना सदर पुलिस ने अज्ञात ट्राला चालक के खिलाफ केस दर्ज कर पंकज गिरी के शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को को सौंप दिया।

Edited By: Jagran