संवाद सहयोगी, पिपली : खंड पिपली के गांव बजीदपुर की 11 वर्ष की आकृति रंगा ने कराटे की नेशनल प्रतियोगिता में सिल्वर पदक हासिल किया है। मध्य प्रदेश के जबलपुर में चल रही 65वीं राष्ट्रीय स्कूल खेल प्रतियोगिता में आकृति रंगा ने अंडर-14 कराटे प्रतियोगिता में यह उपलब्धि हासिल कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। आकृति रंगा की इस शानदार उपलब्धि पर जहां परिजन फूले नहीं समा रहे, वहीं शिक्षक भी आकृति रंगा की इस ऐतिहासिक जीत पर गौरवांवित महसूस कर रहे हैं। आकृति रंगा ने किसी राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कराटे में सिल्वर पदक प्राप्त कर अपने गांव के साथ जिले व प्रदेश का नाम रोशन करने का काम किया है।

मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक दिसंबर से छह दिसंबर तक आयोजित हो रही इस प्रतियोगिता में देशभर के स्कूलों से खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। जैसे ही आकृति रंगा की कराटे में सिल्वर पदक जीतने की खबर गांव में पहुंची तो ग्रामीण जश्न में झूम उठे। आकृति रंगा की दादी जो पूर्व में ब्लाक समिति की चेयरमैन रह चुकी हैं, उन्होंने भी अपनी पोती की इस उपलब्धि पर खुशी जताते हुए कहा कि गांव की एक बेटी ने गांव का नाम पूरे देश में रोशन करने का काम किया है। स्कूल की मुख्याध्यापिका गुरशरणजीत कौर ने कहा कि एक छोटी सी बेटी ने बड़ी उपलब्धि प्राप्त कर स्कूल के साथ साथ शिक्षकों का नाम भी रोशन करने का काम किया है। गांव के सरपंच बलकार सिंह भी आकृति रंगा की शानदार उपलब्धि से काफी आनंदित हैं। कोच रिकू कश्यप ने कहा कि हमें आकृति पर गर्व है। आकृति रंगा होनहार लड़की है जो हमेशा खेल के प्रति गंभीर रहती है और हमेशा गोल्ड मैडल लेकर आने की ही बात करती थी। आकृति रंगा का सात दिसंबर को गांव में पहुंचने पर जोरदार स्वागत होगा। आकृति रंगा के भाई मंताशु रंगा ने जीता था कांस्य पदक

आकृति रंगा के भाई मतांशु रंगा ने कराटे की राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था। मतांशु रंगा ने मध्य प्रदेश के ही इंदौर में हुई राष्ट्रीय स्कूली प्रतियोगिता में कराटे में कांस्य पदक जीत कर अपने खेल से सभी को रोमांचित करने का काम किया था। अब उनकी छोटी बहन आकृति रंगा ने अपने भाई के नक्शे कदम पर चलते हुए कराटे की राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सिल्वर पदक जीता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस