संवाद सूत्र, कुंजपुरा : नबीपुर गांव वासी 25 वर्षीय युवक रविवार रात करीब 9 बजे संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। कुछ घंटे बाद उसकी बाइक सुभरी के निकट आवर्धन नहर पर खड़ी मिली। युवक के नहर में डूबने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

थाना सदर पुलिस की निगरानी में सोमवार दिन भर रेस्क्यू टीम नहर में युवक को तलाशती रही, लेकिन देर शाम तक उसका कोई पता नहीं चला। फिलहाल पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर लिया है। गांव नबीपुर वासी अरुण की कुंजपुरा में इलेक्ट्रिक वेल्डिग की दुकान है। रविवार शाम करीब 9 बजे दुकान बंद करने के बाद उसने पड़ोसी दुकानदार को चाबी सौंपते हुए कहा था कि वह घर जा रहा है। सुबह मिस्त्री दुकान पर आए तो उसे चाबी दे देना। देर रात तक जब अरुण घर नही पहुंचा तो स्वजनों ने उसकी तलाश शुरू की। सुभरी गांव के निकट नहर पर उसकी बाइक खड़ी हुई मिली। इसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही कुंजपुरा पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन सदर थाने का क्षेत्र होने के कारण बाद में थाना सदर पुलिस को सूचना दी गई।

थाना सदर पुलिस व लापता युवक के स्वजन रात को कई घंटे तक युवक को नहर व आसपास क्षेत्र में तलाशते रहे, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं चल पाया। सोमवार सुबह गोताखोरों की एक टीम को मौके पर बुलाया गया। गोताखोरों की टीम दिनभर रेस्क्यू अभियान चलाती रही लेकिन देर शाम तक युवक का कोई पता नहीं चल सका। बताया जा रहा है कि युवक का करीब 2 सप्ताह पूर्व ही रिश्ता तय हुआ था। थाना सदर प्रभारी बलजीत सिंह का कहना है कि गुमशुदगी का मामला दर्ज कर युवक को तलाश किया जा रहा है। रेस्क्यू अभियान जारी है। युवक के मिलने के बाद ही मामले की स्पष्ट जानकारी मिल पाएगी। नहर में फेंके गए देव का आज तक सुराग नहीं नली पार गांव में पिता सुशील कुमार द्वारा नहर में फेंके गए 3 वर्षीय बेटे देव का सोमवार को 36 दिन बाद भी कोई सुराग नहीं लग पाया है। बता दें कि जिस जगह रविवार रात लापता हुए 25 वर्षीय युवक अरुण की बाइक मिली है, उसके आसपास ही सुशील कुमार ने अपने तीन बच्चों को नहर में फेंका था। इनमें 8 वर्षीय शिव व 5 वर्षीय जाहन्वी का शव बरामद हो चुके हैं।

Edited By: Jagran