जागरण संवाददाता, करनाल : महिलाओं की सुरक्षा, सहायता और सम्मान दिलाने में महिला थाना काफी मदद कर रहा है। यहां पहुंचने वाली अधिकतर शिकायतें घरेलू कलह से जुड़ी होती हैं, जिन्हें काउंसिलिग से हल करने का प्रयास किया जाता है। शराब पीकर पत्नी के साथ मारपीट, मोबाइल फोन पर ससुराल की मायके में बात करने पर विवाद, दहेज का उलाहना देना जैसे मामले अधिकतर सामने आ रहे हैं। एसएचओ कविता ने बताया कि रोजाना चार से पांच महिलाएं अपनी शिकायत लेकर पहुंचती हैं, जिनमें पारिवारिक झगड़े या मनमुटाव की होती हैं। घरेलू विवाद का दूसरा बड़ा कारण दहेज के लिए ससुरालियों की ओर से ताने मारना है। अधिकतर मामलों में पुलिस ने परिवारों के आपसी मन-मुटाव दूर करवा उनके घर बसाए हैं। दूसरी तरफ, छेड़छाड़ और दुष्कर्म के मामलों को सख्ती से निपटा जाता है। ---बॉक्स----

दृश्य एक : समय 11.14 बजे

महिला थाने के बाहर घरेलू हिसा की शिकायत पर दोनों पक्ष अपने-अपने स्तर पर चर्चा कर रहे थे। कुछ लोग परिसर में पेड़ के नीचे बैठे थे तो कुछ एंट्री पर रखी कुर्सियों पर दूसरे पक्ष का इंतजार कर रहे थे। एक महिला अपने बच्चे व भाई के साथ मुख्य गेट पर गार्ड से शिकायत देने की विधि के बारे में पूछ रही थी। महिलाएं अपने परिजनों के साथ काउसिलिग के लिए अधिकारी के बुलावे का इंतजार कर रहीं थीं। ---बॉक्स---

दृ दो : 11.25 बजे

एसएचओ कार्यालय के बाहर दो गार्ड बैठे थे, जबकि एसएचओ अपनी कुर्सी पर नहीं थीं। गार्ड से पूछने पर मालूम पड़ा कि जरूरी काम से मैडम फ‌र्स्ट फ्लोर पर गई हैं। ग्राउंड फ्लोर पर अलग-अलग कमरों में काउसिलिग की जा रही थी। शिकायत दे चुकी महिलाएं कमरों के बाहर खड़ी थीं, जबकि अंदर कुर्सियां खाली पड़ी हुई थीं, जिनकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं थी। महिलाएं कभी अंदर झांकती तो कभी इधर-उधर के कमरों पर नजर दौड़ा रहीं थीं। फ‌र्स्ट फ्लोर जाकर जाना तो एसएचओ सहकर्मियों से केस के बारे में जानकारी ले रही थीं। ---बॉक्स---

दृश्य तीन : 11.42 बजे

थाना परिसर में एक तरफ किनारे में किसी मामले को लेकर दो पक्ष बहस कर रहे थे, जबकि कोई भी मुलाजिम शोर को कम करवाने के लिए नहीं पहुंचा। परिवार के साथ खड़ी महिला को एक बुजुर्ग काफी तेज आवाज में बात कर रहा था। काफी देर शोर होने के बाद जब परिसर में सभी लोग वहां इकट्ठे हुए तो एक मुलाजिम ने शोर न करने की हिदायत दी। बुजुर्ग बार-बार गुस्से में पारिवारिक विवाद को लेकर महिला पर आरोप लगा रहा था, जबकि उसके पक्ष में अन्य लोग सफाई देने में जुटे हुए थे। दृश्य चार : 12.08 बजे

इंद्री क्षेत्र की महिला ने बताया कि आठ माह पहले उसका पति छोड़ कर विदेश चला गया है। पति के चले जाने के बाद पीड़ित के सास-ससुर ने भी उसे घर से बाहर निकालकर बेदखल कर दिया। इसके अलावा, आरोपित पति आने माता-पिता से बात करता है, जबकि इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। परेशान होने के बाद ससुराल छोड़कर माता-पिता के पास रह रही हूं। महिला थाने में शिकायत देकर न्याय की गुहार लगाई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप