जागरण संवाददाता, करनाल: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एमेरिटस प्रो. प्रभात पटनायक ने कहा कि युद्ध समस्याओं को बढ़ा तो सकता है पर उनका समाधान नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि आतंकवादी गतिविधियों से पाकिस्तान बुरी तरह से प्रभावित है। क्योंकि आतंकवादी किसी के मित्र नहीं होते। इस समस्या को युद्ध द्वारा हल नहीं नहीं किया जा सकता। बल्कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय और दोनों देशों के सामूहिक प्रयासों द्वारा ही हल किया जा सकता है। उन्होंने जाट भवन में अखिल भारतीय अमन और एकजुटता संगठन की हरियाणा ईकाई द्वारा आयोजित गोष्ठी में विचार व्यक्त किए। उन्होंने इस आतंकवाद की उत्पत्ति के लिए अमेरिका को दोषी ठहराया। जिसने अफगानियों में रूस का प्रभाव समाप्त करने के लिए तालिबानों की फौज खड़ी की और उसे न केवल हथियार मुहैया करवाए। बल्कि धन और प्रशिक्षण भी दिया। प्रोफेसर ने इस बात पर भी जोर दिया कि आज भारत में निर्धनता के विरूद्ध युद्ध छेड़ने की आवश्यकता है। जनता के लिए गुणवत शिक्षा और सस्ती चिकित्सा सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। युद्ध होने की स्थिति में इन लक्ष्यों की प्राप्ति में बाधा उत्पन्न होगी। गोष्ठी की अध्यक्षता राष्ट्रीय पुलिस अकादमी के पूर्व महानिदेशक वीएन राय

ने की। मंच संचालन प्रो. वीबी अबरोल ने किया। श्रोताओं ने गंभीर प्रश्न पूछ कर अपनी सक्रिय भागीदारी दर्ज की। मुख्य वक्ता ने बहुत ही सुचारू ढंग से प्रश्नों का जवाब दिया। सभा में यह निर्णय भी किया गया कि ऐसी गोष्ठी का आयोजन हर तीसरे महीने किया जाए। इस दौरान प्रस्तावित गतिविधियों पर गंभीर चर्चा की और इस उद्देश्य से एक संरचनात्मक ढांचा खड़ा का निर्णय लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस