जागरण संवाददाता, करनाल : सोना देने की एवज में व्यक्ति से 23 लाख रुपये ठग लिए गए। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपितों की पहचान करनाल निवासी जितेंद्र उर्फ काला, धमेंद्र उर्फ आशु, कैथल निवासी राजो देवा और कृष्ण उर्फ बबलू के रूप में हुई है।

कैथल के गांव पाई निवासी दिलबाग सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह अप्रैल 2018 को सुबह 9 बजे के करीब गांव से करनाल जाने के लिए बस अड्डा पाई पर खड़ा था। इस दौरान गांव का जितेंद्र उर्फ काला फार्चूनर गाड़ी में आया, उसके साथ कृष्ण उर्फ बबलू भी गाड़ी में बैठा था। जितेंद्र ने बताया कि वह करनाल जा रहा है और उसे भी करनाल छोड़ देगा। करनाल पहुंचने पर जितेंद्र ने दिलबाग को बताया कि वह सोने का बिजनेस कर रहे हैं। तुम चाहो तो बिजनेस में रुपये लगा सकते हो। दो दिन बाद वह जितेंद्र व कृष्ण के कहने पर जितेंद्र के घर चला गया। जहां जितेंद्र की माता राजो देवी व आशु ने उसे बताया कि आपको जितेंद्र ने बिजनेस बताया है वह बहुत अच्छा बिजनेस है। दिलबाग के मुताबिक राजो देवी ने उसे सोने का बिस्कुट भी दिखाया, जो बिल्कुल असली सोना है। तभी जितेंद्र व कृष्ण भी घर पर आ गए। सभी ने कहा कि आप रुपयों का जल्दी का इंतजाम करे और दो दिन तक पैसे करनाल पहुंचा दें।

दिलबाग ने बताया कि 19 अप्रैल 2018 को उसने 16 लाख रुपये विक्रम के सामने जितेंद्र की गाड़ी में गिनकर जितेन्द्र, आशु कृष्ण उर्फ बबलू को दे दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि एक सप्ताह में आपके पास सोना आ जाएगा। दिलबाग ने कहा कि जितेंद्र के कहने पर उसने मई 2018 में 7 लाख रुपये और कृष्ण दोषी, आशु को गांव पाई के राजेश के सामने दिया। दिलबाग के मुताबिक उपरोक्त आरोपितों ने साजिश के तहत उससे 23 लाख रुपये ठग लिए है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran