संवाद सूत्र, नीलोखेड़ी : दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे पर सवा करोड़ रुपये की लूट के मामले में तीसरा आरोपित भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। आरोपित गुरमीत सिंह उर्फ गोरा को शहीद ऊधम सिंह कालोनी अमृतसर से गिरफ्तार किया गया है। गुरमीत सिंह को एमआइसी अजय कुमार यादव की अदालत में पेश किया गया। वहीं इस मामले के दूसरे आरोपित नवीन को भी अदालत में पेश किया गया। दोनों आरोपितों को अदालत ने दो अक्टूबर तक पुलिस रिमांड पर सौंप दिया है। लूट कांड के एक आरोपित सुनील पहले से जेल में है। हालांकि, मामले के मास्टर माइंड जसबीर व राजेश पुलिस की गिरफ्त से अभी तक बाहर हैं।

नीलोखेड़ी थाना बुटाना के एसआइ सुखबीर सिंह ने बताया कि गुरमीत सिंह गोरा अमृतसर में अपनी बहन के घर छिपा हुआ था। गोरा अमृतसर का रहने वाला है और उसकी बहन भी अमृतसर में रहती है। गोरा मोहाली में आर्टीफिशियल ज्वैलरी का काम करता है। पुलिस को सूचना मिली थी कि गोरा अपनी बहन के घर में रह रहा है। पुलिस ने दबिश दी और उसे गिरफ्तार कर लिया। यह था घटनाक्रम

बुटाना थाने के एसआइ सुखवीर सिंह ने बताया कि पंचकूला के रहने वाले कारोबारी पवन गोयल ने अपने कार चालक सुनील और मुंशी दिनेश को दिल्ली से पैसे लाने के लिए कहा तो सुनील ने पैसे हड़पने की साजिश रची। उसने बीती 19 सितंबर को पंचकूला से दिल्ली जाने से पहले खरड़ (पंचकूला के बगल में स्थित पंजाब का कस्बा) के वकील जसबीर को भी साजिश में शामिल कर लिया। वह दिल्ली से लौटते हुए जसबीर को अपनी लोकेशन देता रहा और जब वे नीलोखेड़ी के पास पहुंचे तो जसबीर की तरफ से भेजे गए तीन युवक नवीन, हैप्पी और गौरा फर्जी नंबर की अपोलो कार से उनके पास पहुंच गए। उन्होंने सुनील व मुंशी दिनेश से दिखावे के लिए मारपीट की और सवा करोड़ रुपये लेकर भाग निकले थे। वहीं, शुरुआत से ही सुर्खियों में बने इस मामले में पुलिस ने जांच में खासी तेजी दर्शाते हुए जल्द ही यह रहस्योद्घाटन कर दिया था कि पूरा घटनाक्रम सुनियोजित साजिश के आधार पर अंजाम दिया गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस