Move to Jagran APP

Karnal: बाल-बाल बचे श्रमिक, नए पुल का अचानक गिरा रैक; अधिकारियों ने कहा- निर्माण सामग्री में कोई मिलावट नहीं

करनाल के कोहंड-असंध मुख्य मार्ग पर दिल्ली ब्रांच नहर पर बनाए जा रहे नए पुल का एक रैक बनने से पहले ही गिर गया। अधिकारियों के मुताबिक शटरिंग ठीक तरह से होने की वजह शायद रैक गिरा है। उन्होंने निर्माण सामग्री में किसी भी प्रकार की कमी से इंकार किया।

By Gurpreet CheemaEdited By: Gurpreet CheemaPublished: Thu, 25 May 2023 01:49 PM (IST)Updated: Thu, 25 May 2023 01:49 PM (IST)
कोहंड-असंध मुख्य मार्ग पर दिल्ली ब्रांच नहर पर बनाए जा रहे नए पुल का रैक गिर गया।

करनाल, जागरण संवाददाता। बल्ला क्षेत्र स्थित कोहंड-असंध मुख्य मार्ग पर दिल्ली ब्रांच नहर पर बनाए जा रहे नए पुल का एक रैक बनने से पहले ही गिर गया। ये पुल लोक निर्माण विभाग की ओर से बनाया जा रहा है। गनीमत ये रही कि कोई श्रमिक हादसे की चपेट में नहीं आया।

loksabha election banner

अधिकारियों के मुताबिक, शटरिंग ठीक तरह से होने की वजह शायद रैक गिरा है। उन्होंने निर्माण सामग्री में किसी भी प्रकार की कमी से इंकार किया। फिर भी विभागीय स्तर पर मामले की जांच कराई जा रही है। फिलहाल, इस रास्ते के लिए पुराने पुल पर आवागमन चल रहा है।

बताया जा रहा है कि देर रात किसी समय अचानक इस पुल का करीब दस मीटर लंबा एक रैक गिर गया। इसी के साथ पास मौजूद श्रमिक घटनास्थल की ओर दौड़े और अधिकारियों को सूचित किया। गनीमत रही कि कोई भी श्रमिक हादसे की चपेट में नहीं आया। हालांकि, पुल का बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त होने से निर्माण अधर में लटक गया है। वहीं, पुल निर्माणाधीन होने के कारण अभी इस पर यातायात भी नहीं चल रहा था।

लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता प्रदीप गोयल ने बताया कि शुरुआती जानकारी में पता चला है कि शायद तकनीकी स्तर पर शटरिंग की कमी के कारण रैक गिरा है। उन्होंने दावा किया कि पुल में जो निर्माण सामग्री में किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं है।

कई जिलों को जोड़ता है ये मार्ग

कोहंड गांव की दिशा में ये मार्ग जहां दिल्ली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ता है तो वहीं असंध की दिशा में इसके माध्यम से जींद, कैथल व हिसार आदि जिलों का सफर किया जा सकता है। इसी मार्ग से पानीपत रिफाइनरी व गुढ़ा स्थित गैस प्लांट के सैकड़ों वाहन प्रतिदिन आवागमन करते हैं। मार्ग पर लगातार बढ़ रहे यातायात के दबाव के दृष्टिगत इससे गुजर रही दिल्ली ब्रांच नहर पर पहले से निर्मित पुराने पुल के साथ नया पुल निर्मित किया जा रहा है। अभी तक करीब एक चौथाई हिस्से से अधिक निर्माण हो चुका है।

नहर पर बनेंगे कुल तीन पुल

करीब सात करोड़ रुपये की लागत के प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली ब्रांच यमुना नहर पर कुल तीन पुल बनाए जाने हैं। इनमें एक पुल पहले ही बनकर तैयार हो चुका है।दूसरा पुल निर्माणाधीन है, जिस पर यह हादसा हुआ। 40 मीटर लंबे इस पुल पर कुल चार रैक डाली जानी थीं, जिनमें पहली ही रैक क्षतिग्रस्त होने से काम अधर में लटक गया है। जबकि तीसरा पुल अभी बनाया जाना है।

सिंचाई विभाग करा रहा है निर्माण

दिल्ली ब्रांच नहर पर सिंचाई विभाग की ओर से पुल निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग को बजट दिया गया था। विभागीय अधिकारियों के अनुसार यहां कुल तीन पुल निर्मित होने हैं। फिलहाल पुल बनाने का कोई निश्चित समय निर्धारित नहीं किया गया है क्योंकि समय-समय पर नहर में पानी की मांग के मुताबिक पानी छोड़ा जा रहा है। इसी के अनुरूप नियमित अंतराल पर निर्माण रोक दिया जाता है।

पुराने पुल के समानांतर निर्माण

इस नहर पर पहले से एक पुल बना हुआ है लेकिन यातायात के लगातार बढ़ते दबाव और आवश्यकता के अनुरूप चौड़ाई कम होने की वजह से यहां अक्सर जाम की स्थिति बन जाती है। इसकी वजह से यहां दूसरा पुल बनाया जा रहा था ताकि अलग-अलग दिशाओं के यातायात का आसानी से आवागमन हो सके। इस रास्ते से पानीपत रिफाइनरी व गैस प्लांट के वाहन भी प्रतिदिन आवागमन करते हैं।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.