जागरण संवाददाता, करनाल : रेलवे रोड पर एसबीएस चौक के पास नशे में धुत्त पुलिसकर्मी ईश्वर मेहला ने बच्चे की पिटाई कर दी। लोगों ने पुलिसकर्मी का विरोध किया तो वह उनके सामने भी अकड़ गया। पुलिसकर्मी समझाने के बावजूद नहीं माना तो तैश में आए लोगों ने उस पर थप्पड़ रसीद कर दिए। मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को मिली तो वह तुरंत एक्शन में आए। पुलिसकर्मी का मेडिकल कराकर लाइन हाजिर कर दिया गया।

बच्चे को बेरहमी से पीटने लगा तो जमा हो गए लोग

शुक्रवार शाम करीब छह बजे ट्रैफिक पुलिस में एसपीओ के पद पर कार्यरत कर्मचारी ईश्वर मेहला एसबीएस स्कूल के पास स्थित एक रेहड़ी पर आया। उसने आते ही रेहड़ी पर काम कर रहे बच्चे को थप्पड़ मारने शुरू कर दिए। बच्चे की पिटाई देखते ही आसपास के लोग एकत्रित हो गए। इसके साथ ही यहां के दुकानदार भी बाहर आ गए। लोगों ने उसका विरोध किया तो पहले वह उन पर हावी होने की कोशिश की। लेकिन लोगों की भीड़ बढ़ती गई। इसी बीच में उसे कुछ थप्पड़ भी मार दिए गए। लोगों का गुस्सा देखकर पुलिस कर्मचारी बैकफुट पर आ गया। इसी बीच वह मौका देखकर भागने की कोशिश करने लगा। लेकिन लोगों ने उसे घेर लिया। इसी दौरान पुलिस की पीसीआर मौके पर पहुंची और उसे अपने साथ लेकर चली गई। मामला बढ़ता देखकर पुलिस ने उसका मेडिकल कराया।

डीएसपी मेरा चाचा है, तू मेरा क्या कर लेगा

लोगों ने कहा कि यह पुलिसकर्मी अक्सर नशे की हालत में रहता है। इस राह से गुजरने वाले लोगों के साथ अभद्र व्यवहार करता है। कई बार लोगों के साथ बदतमीजी कर चुका है। जब उसका कोई विरोध करता है तो कहता है कि डीएसपी मेरा चाचा है। कोई मेरा क्या कर लेगा। उसकी पहुंच ऊपर तक है। लोगों ने कहा कि वर्दी का अपमान करने वाले इस तरह के पुलिस कर्मचारियों को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए। ताकि इस तरह की हरकत कोई दोबारा नहीं कर सके।

पिटाई की वीडियो हुई वायरल

पुलिस कर्मचारी द्वारा बच्चे की पिटाई करने का वीडियो वायरल हो गया। वीडियो जैसे-जैसे वायरल होता गया, पुलिस पर सवाल उठने लगे। इसके साथ ही लोगों ने सोशल मीडिया पर भी अपनी प्रतिक्रियाएं जाहिर की और कर्मचारी पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की।

घरेलू विवाद की वजह से शराब पी : ईश्वर मेहला

कर्मचारी ईश्वर मेहला ने बताया कि वह पहले भारतीय सेना में कमांडो था। वहां से सेवाएं पूरी करने के बाद उसने पुलिस ज्वाइन कर ली। उसकी पत्नी के साथ अनबन रहती है। इस वजह से उसने शराब पी। अपने बचाव में कहा कि उसने बच्चे के साथ मारपीट नहीं की। लेकिन जब उसे पिटाई का वीडियो होने की बात कही तो कहा कि उसने बच्चा समझकर उसे पीटा था।

वर्जन

सिटी ट्रैफिक इंचार्ज रोशन लाल ने बताया कि आरोपित एसपीओ का तुरंत प्रभाव से मेडिकल कराकर लाइन हाजिर कर दिया गया है। इस मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप