संवाद सहयोगी, असंध : एक आढ़ती से पिस्तौल दिखाकर बदमाशों ने नकदी व मोबाइल व बाइक छीन ली और फरार हो गए। आढ़ती विनोद गोयल ने बताया कि वर्तमान गेहूं के सीजन में सरकारी आदेशों के चलते डेरा गामा रोड पर स्थित एक राइस मिल में गेहूं तुलाई कर रहे हैं। इसी काम के चलते वह मंगलवार रात करीब 12 बजे वापस घर लौट रहा था। जब ड्रेन के पास पहुंचा तो अचानक तीन युवक खड़े मिले, जिन्होंने उसे रोक लिया और पिस्तौल लगा ली। उसे धमकी देते हुए सब कुछ निकाल देने को कहा और उसकी जेब से दो हजार रुपये, मोबाइल व बाइक छीनकर फरार हो गए। वह किसी तरह घर पहुंचा तो स्वजनों को वारदात की सूचना दी। बाद में पुलिस को शिकायत दी तो पुलिस ने अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी, लेकिन बुधवार देर रात तक भी पुलिस आरोपितों का सुराग नहीं लगा पाई।

बदमाशों के हौसले बुलंद, दो महिलाओं से कानों की बालियां छीनकर फरार

जागरण संवाददाता, करनाल : बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं, जिसके चलते छीनाझपटी की वारदातें बढ़ने लगी है। बदमाशों ने एक साथ दो महिलाओं को निशाना बनाया, जिनमें 92 वर्षीय एक बुजुर्ग भी शामिल है। सेक्टर-13 निवासी बुजुर्ग महिला सावित्रि देवी ने बताया कि वह मंगलवार शाम को घर के अंदर बरामदे में बैठी थी। तभी एक अज्ञात नकाबपोश युवक उसके पास आया और पहले नमस्ते की फिर उसके कानों से सोने की बालियां झपट कर ले गया। इस दौरान उसकी पुत्रवधु पूजा कर रही थी। मेरी आवाज सूनकर वह उस युवक के पीछे दौड़ी, लेकिन युवक बिना नंबर की बाइक पर सवार होकर फरार हो गया। वहीं दूसरी वारदात में गांव शाहपुर वासी कृष्णा देवी ने बताया कि मंगलवार को वह घर से अपने प्लाट में उपले बनाने के लिए गई हुई थी। उस समय करीब 12 बजे हुए थे। एक युवक बाइक पर सवार होकर आया और उससे नरेश के घर का पता पूछने लगा। उसने पता बता दिया और उपले बनाने लगी। युवक दोबारा आया और उसके कानों से बालियां झपट कर बाइक पर सवार होकर फरार हो गया। उक्त वारदातों में दोनों महिलाएं घायल भी हो गई। हालांकि पुलिस ने दोनों वारदातों के संबंध में अलग-अलग केस दर्ज कर लिया है, लेकिन फिलहाल किसी आरोपित का सुराग नहीं लगा पाई। बता दें कि एक सप्ताह पहले ही सेक्टर 13 वासी महिला के कान की बाली बाइक सवार बदमाश उस समय खींच ले गया था जब वह अपनी बेटी के साथ बाजार से स्कूटी पर सवार होकर घर लौट रही थी। इससे वह हादसे का शिकार होने से भी बच गई। यहीं नहीं इसी माह इस तरह की करीब छह अन्य वारदातें भी हो चुकी है, लेकिन पुलिस आरोपितों तक नहीं पहुंच पा रही जबकि बढ़ती वारदातों से महिलाओं में भय बनने लगा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021