जागरण संवाददाता, करनाल : कटऑफ लिस्ट में पसंद के कालेज में दाखिला न होने वाले विद्यार्थी अब ओपन काउसंलिग से बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। दाखिले बेशक मेरिट लिस्ट के आधार पर हो रहे हैं, लेकिन अधिकतर विद्यार्थियों को अपने पसंद के कालेज में सीट मिल रही हैं। बुधवार की काउंसलिग से दाखिलों के बाद शुक्रवार को फिर छात्र-छात्राएं ओपन काउंसलिग में हिस्सा लेंगे। इस दौरान रिजर्व सीटों पर दाखिला न होने की सूरत में सामान्य श्रेणी के विद्यार्थियों को दाखिला मिलेगा।

वीरवार को पहली ओपन फिजिकल काउंसिलिग में मेरीट लिस्ट में आए विद्यार्थी की एडमिशन के लिए फीस जमा करवाने के लिए भीड़ उमड़ी रही। दो नवंबर तक विभाग द्वारा पोर्टल खोला गया है। बता दें कि विभाग की गाइडलाइन के अनुसार सीटों की उपलब्धता पर कालेजों द्वारा प्रतिदिन ओपन मेरिट सूची तैयार की जाएगी। कालेजों की ओर से दस्तावेजों व दाखिलों की रिपोर्ट को ऑनलाइन करेंगे। विद्यार्थी को हर रोज फिजिकल काउंसलिग के तहत मेरिट के आधार पर एडमिशन प्राप्त होगा। यदि दो नवंबर तक भी कॉलेजों में खाली सीटें बची तो कॉलेजों के अनुरोध पर विभाग की ओर से तीन नवंबर को पोर्टल खुला रहेगा। दो कटऑफ लिस्ट के बाद अब दाखिलों की कमान कालेजों के पास

उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से दाखिलों के लिए दो कटऑफ लिस्ट के बावजूद कालेजों में सीटें खाली रह गई। खामियों के कारण उच्चाधिकारियों ने दाखिलों की प्रक्रिया कालेज प्रबंधकों को सौंप दी और विद्यार्थियों को भी यह प्रक्रिया रास आ रही है। इस दौरा ऑनलाइन व ऑफलाइन फीस जमा की जा रही है। कॉलेज की तीसरी लिस्ट ऐसे सौंप दी गई है जो पहले कॉलेजों में होता था। कालेज प्रबंधन अपने कालेज में हुए दाखिलों की जानकारी उच्चतर विभाग को उपलब्ध करवा रहा है। दयाल सिंह कालेज के प्राचार्य डा. चंद्रशेखर भारद्वाज ने बताया कि खाली सीटों पर दाखिलों के लिए ओपन काउंसलिग में विद्यार्थियों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया और स्टाफ सदस्य अपने स्तर पर विद्यार्थियों के दस्तावेजों की वेरिफिकेशन कर फीस जमा करवा रहे हैं। रिजर्व सीटों पर दाखिला न होने की सूरत में जनरल कैटेगिरी के बच्चों के लिए सीट खाली छोड़ दी जाएगी। शुक्रवार को फिजिकल उपस्थित होकर विद्यार्थी ओपन काउसंलिग के जरिए दाखिला ले सकते हैं।

Edited By: Jagran