जागरण संवाददाता, करनाल: केंद्र सरकार द्वारा तीन कृषि अध्यादेशों के खिलाफ जिलेभर में आढ़तियों ने धरना दिया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने इन अध्यादेशों को वापस लेने की मांग की। साथ ही मंडियों में धान की खरीद नहीं की।

निसिंग से संवाद सूत्र के अनुसार नई अनाजमंडी के मुख्य गेट के पास धरने पर बैठे आढ़तियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। अनिश्चितकालीन धरने की अध्यक्षता व्यापार मंडल के प्रधान बलबीर राणा ने की। मंडी के सैकड़ों आढ़तियों ने भाग लिया। इस दौरान मंडी में धान की फसल तो पहुंची लेकिन खरीद नहीं हुई। आढ़तियों लच्छी राम, रामेश्वर त्यागी, नरेंद्र बधनारा, अनिल राणा गोंदर, धर्मबीर गुनियाना, राजेश खन्ना, अमीर गोयल, मोहन शर्मा, सुभाष सिगला, वेद प्रकाश त्यागी ने अध्यादेशों को आढ़ती व किसान विरोधी बताया। इस मौके पर सुशील बस्तली, ईशम डाचर, महिपाल, राकेश सिगला, रामनाथ बरास, राममेहर, दिनेश, कुलदीप सिंह लागर, मलकीत वडैच, जोगा सिंह मौजूद रहे।

इंद्री से संवाद सहयोगी के अनुसार अनाजमंडी में आढ़तियों, किसानों व मंडी से जुड़े अन्य लोगों ने तीनों अध्यादेशों व अन्य मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मार्केट कमेटी सचिव को ज्ञापन सौंपा। पूर्व मंडी प्रधान समे सिंह ने कहा कि पूरे प्रदेश में अनिश्चित कालीन हड़ताल की जा रही है, जब तक मांगें पूरी नहीं होती तब तक हड़ताल जारी रहेगी। फोटो-16

नीलोखेड़ी में धरना देकर मांगों का समर्थन

नीलोखेड़ी से संवाद सूत्र के अनुसार आढ़ती एसोसिएशन भी कृषि अध्यादेशों के खिलाफ किसानों के पक्ष में उतर आई है। मंडी एसोसिएशन के सदस्यों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की व धरना शुरू किया। आढ़तियों ने अपनी मांगों को लेकर मार्केट मंडी सुपरवाइजर को एक ज्ञापन सौंपा। एसोसिएशन के अध्यक्ष मलखान सिंह ने कहा कि किसान और आढ़ती एक-दूसरे के पूरक हैं। इस अवसर पर जयपाल, रामजुआरी, सतीश, अश्वनी, कृष्ण, जयभगवान उपस्थित थे। फोटो-20

आढ़तियों ने लगाए सरकार के खिलाफ नारे

तरावड़ी से संवाद सहयोगी के अनुसार मंडी आढ़ती एसोसिएशन ने धरना देकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही मार्केट कमेटी सचिव गौरव आर्य को ज्ञापन सौंपा। राइस मिल एसोसिएशन अध्यक्ष नरेश बंसल और मंडी आढ़ती एसोसिएशन के सचिव राकेश हंस ने कहा कि तीनों अध्यादेशों को समाप्त किया जाए, ताकि आढ़ती व जमींदार राहत की सांस ले सके। इस मौके पर कमलेश सिगला, सुल्तान सोलहो, यशपाल राणा, कृष्ण राणा, दुर्गेश मित्तल, बिट्टू भाटिया, पंकज गर्ग, प्रमोद गोयल, शुभम गर्ग, प्रदीप, संदीप गुप्ता, रामकुमार शर्मा, वीरभान, बनवारी लाल मौजूद थे। फोटो : 22 घरौंडा से संवाद सहयोगी के अनुसार नई अनाज मंडी में धरने की अध्यक्षता कर रहे पूर्व सचिव सुरेश मित्तल ने कहा कि सरकार ने तीन अध्यादेश लागू करके किसान, व्यापारी व मजदूरों को परेशान करने का काम किया है। सरकार ने मंडी से बाहर मार्केट फीस माफ कर दी, जबकि मंडी में चार प्रतिशत मार्केट फीस रखी है। सरकार मंडी में लगाई हुई फीस को भी माफ करे। धरने पर पवन गुप्ता, राजेश गोयल, सुभाष काजल, श्यामलाल, सूबे सिंह, अजय माहना, चेतनदेव शर्मा, धीरज भटिया मौजूद थे।

असंध से संवाद सहयोगी के अनुसार नई अनाज मंडी में आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान बनारसी दास मित्तल की अध्यक्षता में आढ़तियों व व्यापारियों ने धरना देकर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। बनारसी दास मित्तल ने कहा कि सरकार द्वारा लागू तीन काले कानूनों के विरोध में हड़ताल शुरू की है। इस अवसर पर सुरेन्द्र गुप्ता, नरेंद्र पाल, सुबेग सिंह, जगदीश गोयल, रामसरन, शर्मा, शीशपाल, दलेल सिंह, महावीर सिंह मौजूद थे।

Edited By: Jagran