जागरण संवाददाता, करनाल : हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के बैनर तले आंदोलनरत बर्खास्त पीटीआइ ने शपथ पत्र लिखकर 23 अगस्त को विभाग द्वारा ली जाने वाली लिखित परीक्षा नहीं देने का ऐलान कर दिया है। शनिवार को करनाल में लगभग 64 पीटीआइ ने जिला सचिवालय के बाहर खड़े होकर परीक्षा न देने की शपथ ली। इस मौके पर समिति के जिला प्रधान संदीप बलड़ी ने कहा कि पूरे प्रदेश में पीटीआइ ने लिखित परीक्षा का बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है। सरकार ने 1983 पीटीआइ को नौकरी से निकाल कर उनका अपमान किया और अब दोबारा परीक्षा लेकर उनका फिर से अपमान करना चाहती है। सभी 1983 पीटीआइ योग्य हैं और बिना शर्त नौकरी बहाली चाहते हैं। उन्होंने कहा कि नौ अगस्त के सर्व कर्मचारी संघ के जेल भरो आंदोलन में पीटीआई बढ़चढ़ कर शामिल होंगे। धरना स्थल पर सर्व कर्मचारी संघ असंध ब्लाक से अंकित राणा, रमेश कुमार, विनोद कुमार, तेजबीर व महीपाल क्रमिक अनशन पर बैठे। इस अवसर पर हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के जिला प्रधान अनिल सैनी, कृष्ण निमरण, एसपी त्यागी, बीर सिंह लाठर, राजेश शमर, महेंद्र ज्वाला, सेवा सिंह, भुवन, राज कुमार, अजमेर, कुलदीप राणा, कुलदीप लाठरो, विनोद, संजीव, प्रदीप सांगवान, सुखविद्र विर्क, प्रदीप, गुलाब, राकेश, हिमांशु, यादविद्र, सुरेश कुमार, मोहन, रोशनलाल गुप्ता, नरेश, वीना, मीना भारद्वाज, रीना, अन्नु, सुदेश, नीलम व रानी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran