जागरण संवाददाता, करनाल : भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ उप आयुक्त डॉ. संदीप सक्सेना ने चंडीगढ़ से वीडियो कांफ्रेंस से चुनाव की तैयारी की समीक्षा की। प्रदेश के सभी डीसी जिला निर्वाचन अधिकारियों और एसपी के साथ वोटरों की संख्या, मतदाता सूची का अंतिम पुनर्निरीक्षण, मतदान केंद्रों पर उपलब्ध सुविधाएं, मतदान के प्रति जागरूकता संबंधित विषयों पर चर्चा की गई। समीक्षा बैठक में करनाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक योगेंद्र नेहरा भी उपस्थित रहे।

वीसी में करनाल के जिला निर्वाचन अधिकारी विनय प्रताप सिंह ने बताया कि विगत लोकसभा चुनाव में इस जिला में वोटरों की संख्या 10 लाख 71 हजार 716 थी, जो अब अंतिम और द्वितीय विशेष पुनर्निरीक्षण के बाद बढ़कर 10 लाख 91 हजार 547 हो गई है, जो कि एक हजार की जनसंख्या के हिसाब से 647 है। इसी प्रकार एक हजार पुरुषों के पीछे महिला वोटरों की संख्या 889 हो गई है। चुनाव में मतदाताओं की अधिक से अधिक भागीदारी के लिए स्वीप गतिविधियां जारी हैं। विधानसभा स्तर पर जागरूकता वैन चलाई जा रही है। जिला सूचना और जनसम्पर्क विभाग की ओर से गांव-गांव में जागरूकता नुक्कड़ सभाएं आयोजित की जा रही हैं। दिव्यांगों की सुविधा के लिए एप विकसित की गई है। इसी प्रकार मतदाता सुविधा केंद्रों पर ई-अल्फाबेटिकली वोटिग लिस्ट और बीएलओ को टेबलेट दिए जा रहे हैं। पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र सिंह भौरिया ने बताया कि करनाल जिला की उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और शामली जिला से सीमाएं लगती हैं। इन जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ दो बार बैठकें कर कानून व्यवस्था पर विस्तार से चर्चा कर ली गई है। सीमाओं पर स्थाई नाके लगाने के साथ-साथ सीसीटीवी भी लगाए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस