जागरण संवाददाता, करनाल : स्वयंसिद्धा सोसायटी की अध्यक्ष डा. रंजना शर्मा स्वस्थ समाज की रचना में अहम योगदान दे रही हैं। वह बरसों से महिला सशक्तिकरण की अलख जगाए हुए हैं तो साथ ही हेल्दी सलाह नामक कार्यक्रम से कई घरों को बिखरने से बचा चुकी हैं। कन्या शिक्षा व कन्या स्वास्थ्य को लेकर लगातार अभियान चलाती हैं। लॉकडाउन के समय में भी उन्होंने जरूरतमंदों व मरीजों की सहायता के लिए लगातार काम किया। इस समय वह पार्क अस्पताल में बतौर अधीक्षक अपनी सेवाएं दे रही हैं। डा. रंजना पिछले 31 साल से समाजसेवा के क्षेत्र में सक्रिय तौर पर काम कर रही हैं। वह अपनी संस्था के बैनर तले समाजसेवा से जुड़े कई प्रोजेक्ट्स चला चुकी हैं। इसमें कन्या शिक्षा व स्वास्थ्य को लेकर अभियान अहम रहे हैं। उन्होंने प्रशासन के सहयोग से करनाल ब्लाक के 80 स्कूलों में सैनेटरी नैपकिन मशीन की स्थापना करवाई थी। स्वास्थ्य के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उन्हें हरियाणा मेडिकल काउंसिल की सदस्य मनोनीत किया हुआ है। वह अपनी संस्था के बैनर तले गांव दर गांव जाकर स्वास्थ्य जांच शिविर लगाती रही हैं। खासकर महिलाओं को अनिमिया के प्रति जागरूक करने के लिए काम करती हैं। 1996 में परिवार नियोजन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर उन्हें तत्कालीन राज्यपाल ने भी सम्मानित किया था।

डॉ. रंजना शर्मा का कहना है कि बचपन में ही निर्णय ले लिया था कि वह चिकित्सक बनकर समाजसेवा की राह पर आगे बढ़ेगी। परिवार शिक्षित था तो उनके हर फैसले में उनका साथ दिया। लखनऊ के मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की। इसके बाद रेडक्रास के साथ जुड़कर भी कार्य किया और मलिन बस्तियों में जाकर कन्याओं को शिक्षा के साथ जोड़ा। उन्होंने लगातार कई संस्थाओं से जुड़ कर महिला सशक्तिकरण की राह में कार्य किया। उन्होंने हेल्दी सलाह के नाम से वेबसाइट भी बनाई थी। ताकि पति-पत्नी के मनमुटाव को दूर किया जा सके। डॉ. रंजना शर्मा ने कहा कि उनकी हेल्दी सलाह वेबसाइट को लोगों ने खासा सराहा। इसके परिणाम भी सकारात्मक आए। पति-पत्नी के झगड़े बढ़ने के बाद उनकी काउंसलिग करके उनके रिश्तों को टूटने से बचाने पर सुखद अहसास होता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस