जागरण संवाददाता, करनाल : सामाजिक चिकित्सक महासंघ ने 26 अगस्त को पुरानी सब्जी मंडी में महासम्मेलन बुलाया गया है। इस महासम्मेलन में प्रदेशभर से हजारों प्रेक्टिशनर डॉक्टर शामिल होंगे। प्रेक्टिशनर डॉक्टरों की सरकार से मांग है कि उनको सरकार छह महीने या एक साल की ट्रेनिग देकर उनको पंजीकृत करने का काम करे। प्रेक्टिशनर डाक्टरों को काम करने का हक दिया जाए। बुधवार को महासंघ की बैठक कर्ण पार्क में हुई। अध्यक्षता डा. प्रदीप तंवर ने की। उन्होंने कहा कि सामाजिक चिकित्सक महासंघ के पदाधिकारी और सदस्य डाक्टर पिछले लगभग 40 सालों से समाज सेवा करने का काम कर रहे हैं। सरकार की गलत नीतियों के कारण उन पर बेरोजगारी का संकट मंडरा रहा है। डाक्टरों को काम नहीं करने दिया जा रहा है। झूठी शिकायतों पर डाक्टरों के खिलाफ कार्रवाई बैठा दी जाती है। ऐसे में प्रदेश के हजारों डाक्टर मानसिक और आर्थिक रूप से प्रताड़ित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि करनाल में महासम्मेलन बुलाने का मकसद सरकार पर प्रेक्टिशनर डाक्टरों की मांगें लागू करवाने के लिए दबाव बनाना है। अगर सरकार ने ठोस कदम नहीं उठाए तो डाक्टर सड़क जाम करने का कदम भी उठा सकते हैं।

इस अवसर पर डॉ. ऋषिपाल, डॉ. सुभाष, डॉ. प्रवीण बरसत, डॉ. मुकेश, डॉ. आनंद कुमार, डॉ. राजिद्र सिंह, डॉ. नरेश, डॉ. सुरेश कुमार, डॉ. नरेश, डॉ. राजेश कुमार, डॉ. एमएस चौहान, डॉ. नरेंद्र, डॉ. श्रीचंद तंवर, डॉ. राजिद्र कुमार व डॉ. सोनू मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप