संवाद सहयोगी, घरौंडा : करनाल से आने वाला गंदा नाला घरौंडा क्षेत्र के लिए आफत बनता जा रहा है। सोमवार सुबह एक बार फिर यही कहानी दोहराई गई, जब अलसुबह करीब चार बजे गांव बहलोलपुर के पास गंदा नाला ओवरफ्लो होकर टूट गया। रेत की खान से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर नाले में आई दरार से पानी का रिसाव शुरू हुआ, जो कई घंटों तक जारी रहा। इस दौरान नाले का पानी तेज बहाव के साथ धान की फसल को नष्ट करता हुआ रेत की खान में जा घुसा। खान में पानी का जल स्तर बढ़ता देख ट्रक चालकों व खान कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में लोगों ने अपने वाहन व सामान निकालने का प्रयास किया लेकिन वे कामयाब नहीं हुए।

गांव बहलोलपुर के पास गंदा नाला टूटने से नाले के पानी ने आसपास के खेतों व रेत की खान में को लबालब कर दिया। खेतों में खड़ी फसल के साथ नाले के पानी का सबसे अधिक असर खान में खड़े वाहनों पर हुआ। खान में अपने वाहन खड़े करने वाले चालकों को अपने व्हीकल बाहर निकालने का मौका भी नहीं मिला। ट्रांसपोर्टर प्रदीप कुमार, रोहतास, जयभगवान ने बताया कि गंदा नाला टूटने से खान में करीब 15 फीट तक पानी भर गया। जलभराव के कारण 17 ट्रक व डंपर, एक ट्रैक्टर व तीस चालकों सहित उनके साथी खान में फंस गए। पानी में डूबे वाहनों से ट्रक चालकों को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। पानी के बीच फंसे वाहनों को क्रेनों की मदद से निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं, जो देर शाम तक जारी रहे। इस बीच नाले में आई दरार को बंद कर दिया गया है लेकिन खेतों व खान में खड़े पानी की फिलहाल कोई निकासी दिखाई नहीं दे रही। दर्जनों एकड़ में खड़ी फसल भी खराब

गंदे नाले के कारण एक मर्तबा फिर किसानों की पकी हुई फसल पानी की भेंट चढ़ गई। किसान देशपाल, रणबीर, जितेन्द्र चहल, संदीप, पंकज ने बताया कि साल भर में कई दफा यह नाला किसानों के लिए आफत बनता है। सोमवार को नाला टूटने के कारण उनकी धान व गन्ने की फसल बर्बाद हुई है। इसके अलावा कई एकड़ भूमि में मिट्टी का गहरा कटाव होने से उनके खेत भी खराब हुए है। किसानों ने आरोप लगाया कि सरकार व प्रशासन इस नाले को लेकर गंभीर नही है। बार बार यह नाला टूटता है और किसानों की फसल बर्बाद होती है। किसानों ने कहा कि इतना बड़ा हादसा होने के बाद भी कोई अधिकारी उनकी सुध लेने नहीं आया। गंदा नाला टूटने से आसपास के खेतों में खड़ी फसल प्रभावित हुई है और रेत की खान में भी नाले का पानी घुसा है। पटवारी ने मौके पर निरीक्षण किया है, नाला टूटने से हुए नुकसान की रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

रमेश अरोड़ा तहसीलदार घरौंडा

Edited By: Jagran