संवाद सहयोगी, घरौंडा : अनाज मंडी में धान की आवक जोरों पर है। मंडी धान की ढेरियों और बोरियों से अटी पड़ी है। किसान अपनी धान लेकर मंडी में पहुंच रहे हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते छह दिनों में एक लाख 17 हजार 830 क्विंटल धान की आवक हुई है, जबकि 77 हजार 460 क्विंटल धान की लिफ्टिग हो चुकी है और लगभग 40 हजार 370 क्विंटल धान मंडी में पड़ी है। धान की खरीद के लिए तीन सरकारी एजेंसियों की ड्यूटी लगाई गई है। जिनमें हैफेड, डीएफएससी व एचएसडब्ल्यूसी शामिल है।

सरकार ने बीती 26 सितंबर को धान की सरकारी खरीद हुई की, लेकिन आढ़तियों व किसानों के विरोध प्रदर्शनों और मंडी प्रशासन की व्यवस्थाओं के कारण सरकारी खरीद शुरू नहीं हो पाई। एक अक्टूबर को धान खरीद सुचारू हुई। छह अक्टूबर तक हैफेड, डीएफएससी व एचएसडल्ब्यूसी सरकारी एजेंसियों ने एक लाख 17 हजार 830 क्विंटल धान की खरीद की है। अधिकारियों के मुताबिक, मंडी में एजेंसियों द्वारा लिफ्टिग का कार्य किया जा रहा है। आंकड़ों के अनुसार, 77,460 क्विंटल धान का उठान हो चुका है और 40 हजार 370 क्विंटल धान मंडी में मौजूद है। यदि पिछले वर्ष के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो छह दिन के दौरान मंडी में एक लाख 22 हजार 215 क्विंटल धान की आवक हुई थी। अधिकारियों की माने तो अभी धान का सीजन शुरू हुआ है और आने वाले दिनों में धान की आवक ओर भी ज्यादा बढ़ेगी। किस एजेंसी ने कितनी खरीद धान-

मंडी में हैफेड, डीएफएससी व एचएसडब्ल्यूसी धान की खरीद कर रही है। अधिकारियों के अनुसार, छह अक्तूबर तक हैफेड ने 24 हजार 365 क्विंटल, डीएफएससी ने 66 हजार 965 क्विंटल तथा एचएसडब्ल्यूसी ने 26 हजार 500 क्विंटल धान की खरीद की है।

वहीं प्रतिदिन हुई आवक के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो वह निम्र प्रकार है। दिनांक खरीद

एक अक्टूबर 5540 क्विंटल

दो अक्टूबर 15110 क्विंटल

तीन अक्टूबर 25895 क्विंटल

चार अक्टूबर 19140 क्विंटल

पांच अक्टूबर 35725 क्विंटल मंडी में धान की आवक सुचारू है। अब तक 1.17 लाख क्विंटल आवक हो चुकी है। लिफ्टिंग का कार्य जारी है। मंडी में लगभग 40 हजार क्विंटल से ज्यादा धान पड़ी है। मंडी में व्यवस्था बनाए रखने के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है।

-चंद्रप्रकाश, सचिव मार्केट कमेटी घरौंडा

Edited By: Jagran