जागरण संवाददाता, करनाल : प्रदेशभर में कड़ाके की ठंड, शीत लहर व घनी धुंध के बीच नए साल का आगाज हो सकता है। नव वर्ष पर धुंध गिरने की प्रबल संभावना बनी हुई है। न्यूनतम तापमान भी 5.0 डिग्री से नीचे रह सकता है। सोमवार सुबह हल्की धुंध छाई थी, लेकिन वह छंट गई। करीब आठ बजे ही मौसम साफ हो गया। अधिकतम तापमान 18.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं न्यूनतम तापमान गिरावट के साथ 3.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह के समय नमी की मात्रा 95 फीसदी दर्ज की गई। जो शाम को घटकर 74 फीसदी रह गई। हवा 3.8 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली, जो शीतलहर में तब्दील हो गई। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में धुंध छा सकती है। उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में मौसम बदल सकता है। पंजाब, हरियाणा के उत्तरी भागों और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। उत्तर भारत में बारिश की संभावनाओं के बीच उत्तर के मैदानी राज्यों और मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री की वृद्धि होगी जिससे शीतलहर का प्रकोप इन भागों में कम हो जाएगा।

गौरतलब है कि इन दिनों प्रदेश में ठंड का प्रकोप तेज हो गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर अभी थोड़ी सी बारिश और हो जाए और धुंध पड़े तो यह गेहूं की फसल के लाभदायक होगा। किसानों को इससे फायदा मिलेगा। सर्दी बढ़ने के साथ ही गर्म कपड़ों की डिमांड भी बढ़ गई है। शाम होते ही बाजारों में सन्नाटा पसरने लगता है।

Edited By: Jagran