अश्विनी शर्मा, करनाल

सीएम मनोहर लाल ने दक्षिणी हरियाणा पर जीत का परचम लहराने के लिए निगाह गढ़ा रखी हैं। उत्तरी हरियाणा में पिछले चुनाव में मिली जोरदार बढ़त को कायम रखने के साथ वे दक्षिणी दुर्ग को फतह करने पर फोकस कर रहे हैं। उनका कहना है कि पिछले चुनाव में उत्तरी हरियाणा में जोरदार बढ़त मिली थी। यह इस चुनाव में भी कायम रहेगी। उत्तरी हरियाणा की तरह ही इस बार दक्षिण हरियाणा भी भाजपा को बढ़त दे रहा है। उन्होंने दक्षिण और मेवात का जिक्र करते हुए कहा कि इस क्षेत्र की विभिन्न सीटों पर सीटों पर भाजपा जीत दर्ज करेगी।

सीएम मनोहर लाल ने शुक्रवार को करनाल विधानसभा में तीन जनसभाओं को संबोधित किया। इसके साथ ही उन्होंने इंद्री विधानसभा में पार्टी प्रत्याशी रामकुमार कश्यप के पक्ष में प्रचार किया। सीएम ने कहा कि पांच साल के कार्यकाल में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया है। ऊपरी स्तर पर होने वाले भ्रष्टाचार को खत्म कर दिया है और अब निचले स्तर के भ्रष्टाचार की बारी है। भ्रष्टाचार कैंसर की तरह है। उन्होंने फिर दोहराया कि ना खाएंगे, ना खाने देंगे और खाया हुआ निकालेंगे।

मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सिद्धांत है कि देश पहले और बाकी सब बाद में। हम इसी सिद्धांत को आगे बढ़ाते हुए हम राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने पांच साल भेदभाव रहित और पारदर्शिता से सरकार चलाई है। जब पहले कभी भी चुनाव होते थे, उस समय चुनाव से पांच-सात दिन पहले पता चलता था कि किसकी सरकार बन सकती है, लेकिन इस बार छह माह पहले ही लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि इस बार मनोहर सरकार। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर हमला करते हुए कहा कि वे हमेशा आतंकवादियों के लिए नरम रुख रखती हैं। इसलिए तो उन्हें जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का दुख है।। मराठा वीरेंद्र वर्मा ने छोड़ी कांग्रेस, सीएम से की मुलाकात

जागरण संवाददाता, करनाल

कांग्रेस नेता मराठा वीरेंद्र वर्मा ने उत्तर हरियाणा में टिकट बंटवारे में अनदेखी की बात कहते हुए इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि जनता इतनी खफा है कि कांग्रेस के इस रवैये से उत्तरी हरियाणा में पार्टी का सफाया भी हो सकता है। आगामी रणनीति और राजनीतिक कदम के लिए 13 अक्टूबर को अपने कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं से विचार विमर्श के बाद ही आगामी फैसला लिया जाएगा। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी और प्रदेश अध्यक्षा कुमारी शैलजा को इस्तीफा भेज दिया है। इसके बाद उन्होंने सीएम मनोहर लाल से भी मुलाकात की। कयास लगाए जा रहे हैं कि वे भाजपा में शामिल हो सकते हैं। मराठा वीरेंद्र वर्मा दो बार वर्ष 2009 और 2014 में करनाल लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। वह एक बार नीलोखेड़ी और दो बार असंध विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप