जागरण संवाददाता, करनाल : ससुराल में घायल बेटे को देखने गए मंगल कॉलोनी निवासी एक युवक की मौत हो गई। परिजनों ने ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

मृतक की मां भतेरी ने बताया कि सतीश (32) उसका इकलौता बेटा था। करीब पांच साल पहले सतीश की शादी उत्तरप्रदेश के जिले शामली के गांव झिझाना की संगीता से की थी। 10 दिन पहले संगीता पति के साथ झगड़ा करके मायके चली गई। शनिवार को सतीश के पिता के पास झिझाना से फोन आया की उनके पोते मानसू की उंगली कट गई है। रविवार को सतीश के पिता विष्णु पोते को देखने के लिए झिझाना गांव में चले गए। कुछ देर पश्चात सतीश व उसकी मां भतेरी भी झिझाना में पहुंच गए। भतेरी ने आरोप लगाया कि जैसे ही वह सतीश के साथ झिंझाना पहुंचे, तो ससुराल पक्ष ने उनके साथ गाली-गलौज शुरू कर दी और सतीश को बुरी तरह से मारना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं उनके पति विष्णु व उसके साथ भी मारपीट की। भतेरी का आरोप है कि ससुराल वालों ने सतीश की पीट-पीटकर हत्या की है। हत्या के बाद उसे ट्रैक्टर बग्गी में डालकर करनाल मंगल कॉलोनी में फेंककर चले गए। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इकलौता बेटा था सतीश

भतेरी ने बताया कि सतीश उसका इकलौता बेटा था। वह वेल्डिग की दुकान पर काम करता था। सतीश ही उनका एक सहारा था। आज भगवान ने उनका इकलौता सहारा भी छीन लिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस