जागरण संवाददाता, करनाल

सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने तथा दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से हरियाणा सरकार के सहयोग से होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने अहम कदम उठाया है। इसके तहत करीब 30 करोड़ रुपये की लागत से करनाल में नए बस अड्डे के नजदीक लगभग 9.25 एकड़ भूमि पर चालक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान का निर्माण कार्य कराया जाएगा। यह कार्य जून के अंत तक पूरा हो जाएगा।

डीसी निशांत कुमार यादव ने शुक्रवार को उक्त संस्थान का दौरा किया और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि संस्थान का निर्माण कार्य बिना विलंब तेज गति से कार्य करें, ताकि निर्धारित समयावधि के दौरान इसे चालू किया जा सके। दौरे के दौरान एडीसी वीना हुड्डा व आरटीए इंस्पेक्टर जोगिद्र ढुल भी उपस्थित रहे। डीसी ने कहा कि जीटी रोड बेल्ट पर आधुनिक सुविधाओं से युक्त यह पहला चालक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान करनाल में बनने जा रहा है। संस्थान बनने से करनाल सहित पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरूक्षेत्र, पानीपत तथा सोनीपत के चालकों के लिए प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध होगी। टू व्हीलर से लेकर सिक्स व्हीलर तक सभी प्रकार की गाड़ियों की पासिग जैसी सुविधाएं मिलेंगी। स्मार्ट क्लास रूम, मेल व फीमेल इंस्ट्रक्टर, कैंटीन, होस्टल तथा वर्कशॉप भी बनेगी। इस संस्थान में आटोमैटिक ड्राइविग ट्रैस्टिग ट्रैक भी बनेगी। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के डिवीजनल हैड हरप्रीत सिंह ने बताया कि संस्थान में ट्रैक बनाए जा चुके हैं। बिल्डिग का कार्य लगभग पूरा हो चुका, फिनिशिग का कार्य जारी है। संस्थान स्थापित करने का उद्देश्य सेफ ड्राइवर बनाना तथा आम जनता का जीवन सुरक्षित करना और सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाना है। संस्थान परिवहन विभाग व होंडा कंपनी के संयुक्त तत्वाधान में संचालित किया जाएगा। चालकों के लिए हर प्रकार की सुविधाएं संस्थान में उपलब्ध रहेंगी।

Edited By: Jagran