जागरण संवाददाता, करनाल: एसपी गंगाराम पूनिया का कहना है कि बदमाशों की तलाश के लिए सीआइए वन व टू सहित पुलिस की पांच टीमें लगी है और जल्द ही उन्हें काबू कर लिया जाएगा। पूरी वारदात को लेकर अभी परिवार से जानकारी ली जा रही है। दिनभर खंगालते रहे सीसीटीवी फुटेज

गन प्वाइंट पर लेने के बाद धमकी देते घर में ही खड़ी क्रेटा गाड़ी की चाबी ले ली और फिर पिता कृष्ण चंद सिगला को एक कमरे में जबकि बाकी को दूसरे कमरे में रोककर फरार हो गए। पिता कृष्णचंद सिगला का कमरे की कुंडी खुली थी और करीब आधे घंटे बाद वे बाहर निकले तो उनके कमरे का भी दरवाजा खोला। बदमाशों ने जाते समय उन्हें धमकी दी कि पुलिस को सूचना दी तो वे उन्हें जान से मार देंगे। इस वारदात से वे बुरी तरह से डर गए थे और करीब एक घंटा बाद वे घर से बाहर निकले और सामने रह रहे अपने भाई देवेंद्र को वारदात की सूचना दी। उन्होंने पुलिस को सूचना दी तो वहीं समीप ही रह रहे भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा भी सूचना मिलने पहुंचे जबकि पुलिस और एफएसएल टीम ने मामले की जांच शुरू की। पुलिस दिनभर आसपास के क्षेत्र में सीसीटीवी फुटेज खंगालती रही, लेकिन बदमाशों का पता नहीं चल सका है। इस वारदात से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। राइस मिल संचालक ठीक से बताने में असमर्थ

पीड़ित राइस मिल संचालक पूरी तरह स्पष्ट नहीं बता पा रहे कि बदमाश आखिर क्या-क्या लूट ले गए हैं, लेकिन परिवार के ही अन्य लोगों व पुलिस का मानना है कि बदमाश करीब 15 लाख की नकदी और 100 तोले सोने और करीब तीन किलोग्राम चांदी के जेवरात ले गए हैं।

Edited By: Jagran